Machine Translator

मेरठ की प्राचीनता

मेरठ

 01-06-2017 12:00 PM
मध्यकाल 1450 ईस्वी से 1780 ईस्वी तक
मेरठ जिले की प्राचीनता सैन्धव सभ्यता तक जाती है| आलमगीरपुर, सिन्धु सभ्यता से जुड़ा एक पुरातात्विक स्थल है- पुरातात्विक उत्खनन से इसके ठोस प्रमाण मिलते है। मेरठ जिला मौर्य काल में बोद्ध धर्म का एक प्रमुख केंद्र था| जामा मस्जिद के आस-पास कई बौद्ध अवशेष प्राप्त हुये हैं| मुग़ल सल्तनत के दौरान भी मेरठ एक महत्वपूर्ण केंद्र था| आइन -ए-अकबरी मे भी मेरठ का उल्लेख मिलता है। मेरठ मे कांसे के सिक्को का टकसाल भी अकबर के समयकाल में बनाया गया था| मेरठ मे रोहिल्लाओं और जाटों का भी प्रभाव बड़े पैमाने पर रहा था| ब्रिटिश साम्राज्य के वाल्टर रिन्हार्ड ने मेरठ के सरधना मे अपना साम्राज्य स्थापित किया था और उनकी मृत्यु के बाद बेगम समरू ने इस जगह का कार्यभार संभाला| महाभारत मे पांडवो की राजधानी हस्तिनापुर थी जो की मेरठ जिले मे ही है| मेरठ का वर्णन रामायण मे भी है| 1857 के गदर मे मेरठ की भूमिका अत्यंत महत्वपूर्ण रही है| दिल्ली चलो का नारा भी यही मेरठ से निकला था| इसलिए मेरठ का इतिहास बहुत ही गौरवनित रहा है जिससे मेरठ ने इतिहास के पन्नों में अपनी गौरवशाली छाप छोडी है| 1. 1857 की क्रान्ति और मेरठ: डॉ. के.डी.शर्मा, डॉ. अमित पाठक

RECENT POST

  • सशस्त्र बल दे रहा है रोजगार के अवसर
    नगरीकरण- शहर व शक्ति

     24-06-2019 12:08 PM


  • भारत में क्रिकेट के दीवानों पर आधारित एक चलचित्र
    हथियार व खिलौने

     23-06-2019 09:10 AM


  • मेरठ का घंटाघर तथा भारत के अन्य मुख्य घंटाघर
    सिद्धान्त I-अवधारणा माप उपकरण (कागज/घड़ी)

     22-06-2019 11:42 AM


  • श्रीमद्भगवत् गीता में योग
    य़ातायात और व्यायाम व व्यायामशाला

     21-06-2019 11:29 AM


  • मेरठ की लड़की के बारे में किपलिंग की कविता
    ध्वनि 2- भाषायें

     20-06-2019 11:30 AM


  • फ्रॉक और मैक्सी पोशाक का इतिहास
    स्पर्शः रचना व कपड़े

     19-06-2019 11:12 AM


  • कश्मीर की कशीदा कढ़ाई जिसने प्रभावित किया रामपुर सहित पूर्ण भारत की कढ़ाई को
    स्पर्शः रचना व कपड़े

     18-06-2019 11:08 AM


  • क्या मछलियाँ भी सोती हैं?
    मछलियाँ व उभयचर

     17-06-2019 11:11 AM


  • सबका पहला आदर्श - पिता
    विचार 2 दर्शनशास्त्र, गणित व दवा

     16-06-2019 10:30 AM


  • सफलता के लिये अपनाएं ये सात आध्यात्मिक नियम
    व्यवहारिक

     15-06-2019 10:58 AM






  • © - 2017 All content on this website, such as text, graphics, logos, button icons, software, images and its selection, arrangement, presentation & overall design, is the property of Indoeuropeans India Pvt. Ltd. and protected by international copyright laws.