मेरठ का भारत के संविधान से रिश्ता

मेरठ

 26-02-2018 01:11 PM
उपनिवेश व विश्वयुद्ध 1780 ईस्वी से 1947 ईस्वी तक

भारत के प्रथम क्रन्तिसंग्राम से लेकर आज़ादी मिलने तक, मेरठ का योगदान हमेशा ही बहुमूल्य रहा है।

1857 के आजादी की आगाज़ अंग्रेजों ने दबा तो दी मगर इस क्रान्ति की दहकती ज्वाला को वह कभी पूरी तरह से नहीं बुझा पाए। आजादी को पाने की चाह और इस जज़्बे के तहत मेरठ की सरजमीं ने इस लड़ाई के हर पड़ाव में जमकर हिस्सा लिया और महत्वपूर्ण योगदान भी दिया।

आज़ादी मिलने से पहले का इंडियन नेशनल कांग्रेस का आखरी अधिवेशन (54वा) 23 से 24 नवम्बर 1946 तक मेरठ में हुआ था। इस अधिवेशन के अध्यक्ष श्री. जी. भ. कृपलानी थे जिन्हें आचार्य कृपलानी के नाम से जाना जाता था। उत्तर प्रदेश की पहिली महिला मुख्य मंत्री सुचेता कृपलानी के यह पति थे।

इंडियन नेशनल कांग्रेस का यह आखरी अधिवेशन ऐतिहासिक दृष्टी से अत्यंत महत्वपूर्ण है। इस अधिवेशन के बाद भारत की राजसत्ता का हस्तांतरण हुआ था। भारत की राज्यघटना के लिए समिति की स्थापना भी इसी अधिवेशन में हुई थी। यह अधिवेशन मेरठ के विक्टोरिया पार्क में हुआ था।

चित्र क्रमांक एक में भारत के स्वातंत्र्य संग्राम की रचनाकार त्रिमूर्ति महात्मा गाँधी, सरदार वल्लभभाई पटेल और पंडित नेहरू चर्चा करते दिखाए हैं तथा दूसरा चित्र हमारे संविधान के पहले पन्ने का है।

1. https://www.inc.in/en/inc-sessions

2. https://www.inc.in/en/leadership/past-party-president/j-b-kripalani

3. https://www.inc.in/en/in-focus/the-story-of-our-constitution

4. https://en.wikipedia.org/wiki/Meerut



RECENT POST

  • वृक्षों का एक लघु स्वरूप 'बोन्साई '
    शारीरिक

     13-12-2018 04:00 PM


  • निरर्थक नहीं वरन् पर्यावरण का अभिन्‍न अंग है काई
    कीटाणु,एक कोशीय जीव,क्रोमिस्टा, व शैवाल

     12-12-2018 01:24 PM


  • विज्ञान का एक अद्वितीय स्‍वरूप जैव प्रौद्योगिकी
    डीएनए

     11-12-2018 01:09 PM


  • पौधों के नहीं बल्कि मानव के ज़्यादा करीब हैं मशरूम
    फंफूद, कुकुरमुत्ता

     10-12-2018 01:18 PM


  • रेडियो का आविष्कार और समय के साथ उसका सफ़र
    संचार एवं संचार यन्त्र

     09-12-2018 10:00 PM


  • सर्दियों में प्रकृति को महकाती रहस्‍यमयी एक सुगंध
    व्यवहारिक

     08-12-2018 01:18 PM


  • क्या कभी सूंघने की क्षमता भी खो सकती है?
    गंध- ख़ुशबू व इत्र

     07-12-2018 12:03 PM


  • क्या है गुटखा और क्यों हैं इसके कई प्रकार भारत में बैन?
    व्यवहारिक

     06-12-2018 12:27 PM


  • मेरठ की लोकप्रिय हलीम बिरयानी का सफर
    स्वाद- खाद्य का इतिहास

     05-12-2018 11:58 AM


  • इतिहास को समेटे हुए है मेरठ का सेंट जॉन चर्च
    उपनिवेश व विश्वयुद्ध 1780 ईस्वी से 1947 ईस्वी तक

     04-12-2018 11:23 AM