मेरठ में कचरा नामक भस्मासुर

मेरठ

 23-02-2018 12:47 PM
नगरीकरण- शहर व शक्ति

कचरा प्रमुखता से दो प्रकार का होता है; जैवनिम्नीकरण और अजैवनिम्नीकरण जो उसके अपघटन के तरीके के अनुसार विभाजित किया है।

अजैवनिम्नीकरण कचरा: यह वो कचरा होता है जो प्राकृतिक रीती और तरीकों से सडनशील हो। इसमें सूरज की किरणे, पानी, प्राणवायु और सूक्ष्म जीव-जंतु कचरे को नष्ट कर सकते हैं। इनमे फल, फूल,पत्ते तथा उनके छिलके, मानव, प्राणी, पक्षी के कलेवर और अपशिष्ट ऐसी प्राकृतिक चीज़े होती हैं।

अजैवनिम्नीकरण कचरा: यह वो कचरा होता है जिसका प्रकृति भी विघटन नहीं कर सकती जैसे प्लास्टिक, रबर, केमिकल आदि। अजैवनिम्नीकरण कचरा यह मानव ने पृथ्वी को शहरीकरण तथा अपने विकास के साथ दी हुई खैरात है।

भारत में आज हर दिन तक़रीबन 0.14 मिलियन कचरा रोज़ बनता है। नगरपालिका के अंतर्गत तैयार होने वाले कुल कचरे में से सिर्फ 83% जमा किया जाता है और उसमें से भी सिर्फ 29% ही उपचारित किया जाता है।

भारत में कचरा और उसके निपटान की समस्या नियंत्रण से निकलते जा रही है। शहरीकरण के साथ-साथ बेतरतीब बढती आबादी, नागरिकों और अधिकारीयों की उदासीनता, कचरा निपटान और उपचार के कम साधन यह भारत के हर शहर का सरदर्द बन चूका है।

मेरठ में भी यह समस्या काफी हद तक बढ़ चुकी है। नगर निगम के शिकायत मंच पर नज़र डालें तो हमे अंदाज़ा आ जाता है की मेरठ में कचरे की समस्या कितनी कठिनाईयां ला रही है। वक़्त पर ना उठाने पर कचरा सड़ने लगता है तथा उससे बीमारियाँ, श्वसन विकार बढ़ते हैं। 2016 में राष्ट्रीय हरित अधिकरण ने मेरठ और उत्तर प्रदेश सरकार की मेरठ के कचरे की समस्या को लेकर आलोचना करते हुए नोटिस जारी की थी।

यह बात सही है की कचरे की समस्या का प्रबंधन नगर निगम/ नगर पालिका का यह कर्त्तव्य और काम है मात्र एक जिम्मेदार नागरिक होने के नाते यह हमारा भी कर्त्तव्य है। अगर हम आवासीय सुखा कचरा, गिला कचरा अलग रखें तथा औद्योगिक कचरा प्रबंधन करके आगे भेजे तो यह समस्या के समाधान का आधा हल होगा।

प्रस्तुत चित्र मेरठ की इस समस्या का प्रतिनिधिक चित्रण है।

1.http://meerutnagarnigam.com/health-department.aspx
2.https://timesofindia.indiatimes.com/city/meerut/meerut-roads-fixed-garbage-cleared-overnight-for-cms-visit-residents-stumped/articleshow/58581305.cms
3.http://meerutnagarnigam.com/meerut-municipal-corporation.aspx
4.https://www.complaintboard.in/complaints-reviews/nagar-nigam-meerut-l240884.html
5.http://www.business-standard.com/article/pti-stories/ngt-notice-to-up-govt-over-poor-waste-management-in-meerut-116011300616_1.html
6.http://www.swachhbharaturban.in/sbm/home/
7.https://www.hindustantimes.com/india/india-s-cities-are-faced-with-a-severe-waste-management-crisis/story-vk1Qs9PJT8l1bPLCJKsOTP.html
8.http://cpcb.nic.in/c-d-waste-rules/
9.http://cpcb.nic.in/uploads/hwmd/Salient_features_SWM_Rules.pdf



RECENT POST

  • ओलावृष्टि क्‍यों बन रही है विश्‍व के लिए एक चिंता का विषय?
    जलवायु व ऋतु

     21-02-2019 11:55 AM


  • हिन्दी भाषा के विवध रूपों कि व्याख्या
    ध्वनि 2- भाषायें

     20-02-2019 11:05 AM


  • उच्च रक्तचाप के लिये लाभकारी है योग
    य़ातायात और व्यायाम व व्यायामशाला

     19-02-2019 10:59 AM


  • रॉबर्ट टाइटलर द्वारा खींची गई अबू के मकबरे की एक अद्‌भुत तस्वीर
    द्रिश्य 1 लेंस/तस्वीर उतारना

     18-02-2019 11:11 AM


  • बदबूदार कीड़े कैसे उत्पन्न करते है बदबूदार रसायन
    गंध- ख़ुशबू व इत्र

     17-02-2019 10:00 AM


  • सफल व्यक्ति की पहचान
    विचार 2 दर्शनशास्त्र, गणित व दवा

     16-02-2019 11:55 AM


  • क्या होते हैं वीगन (Vegan) समाज के आहार?
    स्वाद- खाद्य का इतिहास

     15-02-2019 10:24 AM


  • क्‍या है प्रेम के पीछे रसायनिक कारण ?
    विचार 2 दर्शनशास्त्र, गणित व दवा

     14-02-2019 12:47 PM


  • स्‍वच्‍छ शहर बनने के लिए इंदौर से सीख सकता है मेरठ
    नगरीकरण- शहर व शक्ति

     13-02-2019 02:26 PM


  • मेरठ के युवाओं का राष्ट्रीय निशानेबाजी में बढता रुझान
    हथियार व खिलौने

     12-02-2019 03:49 PM