मेरठ में कचरा नामक भस्मासुर

मेरठ

 23-02-2018 12:47 PM
नगरीकरण- शहर व शक्ति

कचरा प्रमुखता से दो प्रकार का होता है; जैवनिम्नीकरण और अजैवनिम्नीकरण जो उसके अपघटन के तरीके के अनुसार विभाजित किया है।

अजैवनिम्नीकरण कचरा: यह वो कचरा होता है जो प्राकृतिक रीती और तरीकों से सडनशील हो। इसमें सूरज की किरणे, पानी, प्राणवायु और सूक्ष्म जीव-जंतु कचरे को नष्ट कर सकते हैं। इनमे फल, फूल,पत्ते तथा उनके छिलके, मानव, प्राणी, पक्षी के कलेवर और अपशिष्ट ऐसी प्राकृतिक चीज़े होती हैं।

अजैवनिम्नीकरण कचरा: यह वो कचरा होता है जिसका प्रकृति भी विघटन नहीं कर सकती जैसे प्लास्टिक, रबर, केमिकल आदि। अजैवनिम्नीकरण कचरा यह मानव ने पृथ्वी को शहरीकरण तथा अपने विकास के साथ दी हुई खैरात है।

भारत में आज हर दिन तक़रीबन 0.14 मिलियन कचरा रोज़ बनता है। नगरपालिका के अंतर्गत तैयार होने वाले कुल कचरे में से सिर्फ 83% जमा किया जाता है और उसमें से भी सिर्फ 29% ही उपचारित किया जाता है।

भारत में कचरा और उसके निपटान की समस्या नियंत्रण से निकलते जा रही है। शहरीकरण के साथ-साथ बेतरतीब बढती आबादी, नागरिकों और अधिकारीयों की उदासीनता, कचरा निपटान और उपचार के कम साधन यह भारत के हर शहर का सरदर्द बन चूका है।

मेरठ में भी यह समस्या काफी हद तक बढ़ चुकी है। नगर निगम के शिकायत मंच पर नज़र डालें तो हमे अंदाज़ा आ जाता है की मेरठ में कचरे की समस्या कितनी कठिनाईयां ला रही है। वक़्त पर ना उठाने पर कचरा सड़ने लगता है तथा उससे बीमारियाँ, श्वसन विकार बढ़ते हैं। 2016 में राष्ट्रीय हरित अधिकरण ने मेरठ और उत्तर प्रदेश सरकार की मेरठ के कचरे की समस्या को लेकर आलोचना करते हुए नोटिस जारी की थी।

यह बात सही है की कचरे की समस्या का प्रबंधन नगर निगम/ नगर पालिका का यह कर्त्तव्य और काम है मात्र एक जिम्मेदार नागरिक होने के नाते यह हमारा भी कर्त्तव्य है। अगर हम आवासीय सुखा कचरा, गिला कचरा अलग रखें तथा औद्योगिक कचरा प्रबंधन करके आगे भेजे तो यह समस्या के समाधान का आधा हल होगा।

प्रस्तुत चित्र मेरठ की इस समस्या का प्रतिनिधिक चित्रण है।

1.http://meerutnagarnigam.com/health-department.aspx
2.https://timesofindia.indiatimes.com/city/meerut/meerut-roads-fixed-garbage-cleared-overnight-for-cms-visit-residents-stumped/articleshow/58581305.cms
3.http://meerutnagarnigam.com/meerut-municipal-corporation.aspx
4.https://www.complaintboard.in/complaints-reviews/nagar-nigam-meerut-l240884.html
5.http://www.business-standard.com/article/pti-stories/ngt-notice-to-up-govt-over-poor-waste-management-in-meerut-116011300616_1.html
6.http://www.swachhbharaturban.in/sbm/home/
7.https://www.hindustantimes.com/india/india-s-cities-are-faced-with-a-severe-waste-management-crisis/story-vk1Qs9PJT8l1bPLCJKsOTP.html
8.http://cpcb.nic.in/c-d-waste-rules/
9.http://cpcb.nic.in/uploads/hwmd/Salient_features_SWM_Rules.pdf



RECENT POST

  • लिडियन नाधास्वरम (Lydian Nadhaswaram) के हुनर को सलाम
    द्रिश्य 2- अभिनय कला

     21-04-2019 07:00 AM


  • अपरिचित है मेरठ की भोला बियर की कहानी
    उपनिवेश व विश्वयुद्ध 1780 ईस्वी से 1947 ईस्वी तक

     20-04-2019 09:00 AM


  • क्यों मनाते है ‘गुड फ्राइडे’ (Good Friday)?
    विचार I - धर्म (मिथक / अनुष्ठान)

     19-04-2019 09:41 AM


  • तीन लोक का वास्तविक अर्थ
    विचार I - धर्म (मिथक / अनुष्ठान)

     18-04-2019 12:24 PM


  • यिप्रेस (Ypres) के युद्ध में मेरठ सैन्य दल ने भी किया था सहयोग
    उपनिवेश व विश्वयुद्ध 1780 ईस्वी से 1947 ईस्वी तक

     17-04-2019 12:50 PM


  • मेरठ का खूबसूरत विवरण जॉन मरे के पुस्तक में
    भूमि प्रकार (खेतिहर व बंजर)

     16-04-2019 04:10 PM


  • पतन की ओर बढ़ता सर्कस
    द्रिश्य 2- अभिनय कला

     15-04-2019 02:37 PM


  • 'अतुल्य भारत' की एक मनोरम झलक
    द्रिश्य 1 लेंस/तस्वीर उतारना

     14-04-2019 07:20 AM


  • रामायण और रामचरितमानस का तुलनात्मक विवरण
    विचार I - धर्म (मिथक / अनुष्ठान)

     13-04-2019 07:30 AM


  • शहीद-ए-आज़म उद्धम सिंह का बदला
    उपनिवेश व विश्वयुद्ध 1780 ईस्वी से 1947 ईस्वी तक

     12-04-2019 07:00 AM