मेरठ में इंसान एवं जानवर

मेरठ

 24-05-2017 12:00 PM
नगरीकरण- शहर व शक्ति
इंसानों और जानवरों का एक बेहद गहरा आपसी रिश्ता प्राचीन काल से चला आ रहा है| इसका सबसे बड़ा उदहारण यह है की प्राचीन काल से ही मानव और जानवर एक ही वातावरण में रहें तथा आपसी ज़रूरतों को पूर्ण किया| आज के समाज में प्रत्येक इंसान किसी न किसी तरह से जानवरों तथा पशुओ पर निर्भर है| अगर राज्य की सुक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्योग की विज्ञप्ति को आधार मानें तो मेरठ जिले मे करीब डेढ़ लाख गायें तथा करीब साढ़े छः लाख भैंसे हैं| इसके अलावा करीब 45 हज़ार बकरियां 19 हज़ार सुअर व करीब 1.5 लाख मुर्गियाँ हैं| प्रति एक लाख पशुधन पर मेरठ जिले मे 4 जानवरों के अस्पताल कार्यरत हैं| यहाँ पर रहने वाले प्रत्येक 12 इंसान पर एक दुधारू जानवर है| यहाँ डेयरी का रोजगार और साथ ही साथ मुर्गी पालन का व्यवसाय आम जनता को रोजगार दिला सकता है| सुक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्योग की रिपोर्ट के अनुसार आने वाले समय में पोल्ट्री-खाद्य, पशु का चारा – दोनों उद्योग, व्यवसायवृद्धि की काफी क्षमता रखते हैं|

RECENT POST

  • ओलावृष्टि क्‍यों बन रही है विश्‍व के लिए एक चिंता का विषय?
    जलवायु व ऋतु

     21-02-2019 11:55 AM


  • हिन्दी भाषा के विवध रूपों कि व्याख्या
    ध्वनि 2- भाषायें

     20-02-2019 11:05 AM


  • उच्च रक्तचाप के लिये लाभकारी है योग
    य़ातायात और व्यायाम व व्यायामशाला

     19-02-2019 10:59 AM


  • रॉबर्ट टाइटलर द्वारा खींची गई अबू के मकबरे की एक अद्‌भुत तस्वीर
    द्रिश्य 1 लेंस/तस्वीर उतारना

     18-02-2019 11:11 AM


  • बदबूदार कीड़े कैसे उत्पन्न करते है बदबूदार रसायन
    गंध- ख़ुशबू व इत्र

     17-02-2019 10:00 AM


  • सफल व्यक्ति की पहचान
    विचार 2 दर्शनशास्त्र, गणित व दवा

     16-02-2019 11:55 AM


  • क्या होते हैं वीगन (Vegan) समाज के आहार?
    स्वाद- खाद्य का इतिहास

     15-02-2019 10:24 AM


  • क्‍या है प्रेम के पीछे रसायनिक कारण ?
    विचार 2 दर्शनशास्त्र, गणित व दवा

     14-02-2019 12:47 PM


  • स्‍वच्‍छ शहर बनने के लिए इंदौर से सीख सकता है मेरठ
    नगरीकरण- शहर व शक्ति

     13-02-2019 02:26 PM


  • मेरठ के युवाओं का राष्ट्रीय निशानेबाजी में बढता रुझान
    हथियार व खिलौने

     12-02-2019 03:49 PM