मेरठ में इंसान एवं जानवर

मेरठ

 24-05-2017 12:00 PM
नगरीकरण- शहर व शक्ति
इंसानों और जानवरों का एक बेहद गहरा आपसी रिश्ता प्राचीन काल से चला आ रहा है| इसका सबसे बड़ा उदहारण यह है की प्राचीन काल से ही मानव और जानवर एक ही वातावरण में रहें तथा आपसी ज़रूरतों को पूर्ण किया| आज के समाज में प्रत्येक इंसान किसी न किसी तरह से जानवरों तथा पशुओ पर निर्भर है| अगर राज्य की सुक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्योग की विज्ञप्ति को आधार मानें तो मेरठ जिले मे करीब डेढ़ लाख गायें तथा करीब साढ़े छः लाख भैंसे हैं| इसके अलावा करीब 45 हज़ार बकरियां 19 हज़ार सुअर व करीब 1.5 लाख मुर्गियाँ हैं| प्रति एक लाख पशुधन पर मेरठ जिले मे 4 जानवरों के अस्पताल कार्यरत हैं| यहाँ पर रहने वाले प्रत्येक 12 इंसान पर एक दुधारू जानवर है| यहाँ डेयरी का रोजगार और साथ ही साथ मुर्गी पालन का व्यवसाय आम जनता को रोजगार दिला सकता है| सुक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्योग की रिपोर्ट के अनुसार आने वाले समय में पोल्ट्री-खाद्य, पशु का चारा – दोनों उद्योग, व्यवसायवृद्धि की काफी क्षमता रखते हैं|

RECENT POST

  • देखते ही देखते विलुप्त हो गए हैं, मेरठ शहर के जल निकाय
    नदियाँ

     25-05-2022 08:12 AM


  • कवक बुद्धि व जागरूकता के साक्ष्य, अल्पकालिक स्मृति, सीखने, निर्णय लेने में हैं सक्षम
    पेड़, झाड़ियाँ, बेल व लतायें

     24-05-2022 07:35 AM


  • मेरे देश की धरती है दुर्लभ पृथ्वी खनिजों का पांचवां सबसे बड़ा भंडार, फिर भी इनका आयात क्यों?
    खनिज

     23-05-2022 08:43 AM


  • जमीन पर सबसे तेजी से दौड़ने वाला जानवर है चीता
    व्यवहारिक

     22-05-2022 03:34 PM


  • महान गणितज्ञों के देश में, गणित में रूचि क्यों कम हो रही है?
    विचार 2 दर्शनशास्त्र, गणित व दवा

     21-05-2022 11:18 AM


  • आध्यात्मिकता के आधार पर प्रकृति से संबंध बनाने की संभावना देती है, बायोडायनामिक कृषि
    भूमि प्रकार (खेतिहर व बंजर)

     20-05-2022 10:02 AM


  • हरियाली की कमी और बढ़ते कांक्रीटीकरण से एकदम बढ़ जाता है, शहरों का तापमान
    नगरीकरण- शहर व शक्ति

     19-05-2022 09:45 AM


  • खेती से भी पुराना है, मिट्टी के बर्तनों का इतिहास, कलात्मक अभिव्यक्ति का भी रहा यह साधन
    म्रिदभाण्ड से काँच व आभूषण

     18-05-2022 08:46 AM


  • भगवान गौतम बुद्ध के जन्म से सम्बंधित जातक कथाएं सिखाती हैं बौद्ध साहित्य के सिद्धांत
    विचार I - धर्म (मिथक / अनुष्ठान)

     17-05-2022 09:49 AM


  • हमारे बहुभाषी, बहुसांस्कृतिक देश में शैक्षिक जगत से विलुप्‍त होता भाषा अध्‍ययन के प्रति रूझान
    ध्वनि 2- भाषायें

     17-05-2022 02:06 AM






  • © - 2017 All content on this website, such as text, graphics, logos, button icons, software, images and its selection, arrangement, presentation & overall design, is the property of Indoeuropeans India Pvt. Ltd. and protected by international copyright laws.

    login_user_id