मेरठ का जंगल

मेरठ

 19-01-2018 06:20 PM
जंगल

भारत की भौगोलिक दशा यहाँ पर जंगलों के तीव्र गति से उगने मे बड़ी सहायता प्रदान करती है, यहाँ की प्राकृतिक सौन्दर्य हमेशा से विश्व भर से लोगों को आकर्षित करती रही है। प्रकृति की ही वजह से पुर्तगाली, डच, इंग्लैंड के व्यापारी यहाँ आये। वर्तमान समय मे भारत के कई जंगलों व स्थानों पर विभिन्न जीवों की जातियों को बचाने का कार्य किया जा रहा है। इसके पीछे सबसे बड़ा कारण यह है कि 16वीं शताब्दी से लेकर 20वीं शताब्दी के मध्य यहाँ पर जीवों का शिकार खेल के रूप मे बहोत बड़े पैमाने पर किया गया था। यदि आँकड़ों की माने तो 19वीं शताब्दी मे भारत मे 1 लाख से ज्यादा बाघ निवास करते थे परन्तु 1875-1925 के मध्य भारत मे करीब 80,000 बाघों का कत्ल किया गया जिसका परिणाम यह रहा कि भारत मे 1971 मे मात्र 1800 बाघ बचे थे। बाघो को बचाने का कार्य बड़े पैमाने पर किया गया जिसका कारण यह रहा की वर्तमान मे भारत मे 4 हजार से ज्यादा बाघ यहाँ पर निवास करते हैं। यही हाल भारत मे शेरों का भी हुआ जिस कारण भारत मे शेरों की अंधाधुन्ध शिकार ने इनको विलुप्तता के कगार पर खड़ा कर दिया था, कई प्रयासो के चलते आज भारत मे 500 से ज्यादा शेर हैं जो की गिर व आसपास के जंगलों मे पाये जाते हैं। भारत मे हाथियों की संख्या बड़े पैमाने पर पायी जाती थी विभिन्न धर्मग्रन्थों से लेकर सेना के विवरणों से इसके साक्ष्य प्राप्त होते हैं, परन्तु हाथियों के अत्यधिक शिकार ने व लोगों की इनके दाँत के प्रति लोलुपता ने इनके शिकार की तरफ अग्रसित किया। वर्तमान काल मे भारत मे एशियायी हाँथीयों की संख्या करीब 27000-29000 के करीब है जो यहाँ के जंगलों मे आज विचरण करते हैं। भारत मे वर्तमान समय मे कई वनों का संरक्षण किया जा रहा है तथा कई राष्ट्रीय वन उद्धानों का निर्माण भी किया गया है जिसमे कई प्रकार के जीव स्वक्षंद भाव से विचरण करते हैं। मेरठ का इकलौता जंगल हस्तिनापुर वाइल्ड लाइफ सैंचुरी है यह वर्तमान काल में एक छोटे से स्थान पर बस कर रह गया है। वर्तमान काल में यहँ पर जानवरों की संख्या भी अत्यन्त कम है पर कभी यह जंगल भी गुलजार हुआ करता था। 1. http://www.baliparafoundation.com/sites/default/files/blog/Elephant%20conservation%20in%20India%2C%20%20FRONTLINE%2C%2025th%20March%202011..pdf 2. http://www.moef.nic.in/downloads/public-information/ETF_REPORT_FINAL.pdf 3. https://blogs.kent.ac.uk/barbarylion/tag/india/ 4. http://brilliantmaps.com/distribution-of-lions/ 5. https://blogs.scientificamerican.com/extinction-countdown/good-news-rarest-lions/ 6. https://www.theguardian.com/environment/2016/aug/12/elephants-on-the-path-to-extinction-the-facts



RECENT POST

  • वृक्षों का एक लघु स्वरूप 'बोन्साई '
    शारीरिक

     13-12-2018 04:00 PM


  • निरर्थक नहीं वरन् पर्यावरण का अभिन्‍न अंग है काई
    कीटाणु,एक कोशीय जीव,क्रोमिस्टा, व शैवाल

     12-12-2018 01:24 PM


  • विज्ञान का एक अद्वितीय स्‍वरूप जैव प्रौद्योगिकी
    डीएनए

     11-12-2018 01:09 PM


  • पौधों के नहीं बल्कि मानव के ज़्यादा करीब हैं मशरूम
    फंफूद, कुकुरमुत्ता

     10-12-2018 01:18 PM


  • रेडियो का आविष्कार और समय के साथ उसका सफ़र
    संचार एवं संचार यन्त्र

     09-12-2018 10:00 PM


  • सर्दियों में प्रकृति को महकाती रहस्‍यमयी एक सुगंध
    व्यवहारिक

     08-12-2018 01:18 PM


  • क्या कभी सूंघने की क्षमता भी खो सकती है?
    गंध- ख़ुशबू व इत्र

     07-12-2018 12:03 PM


  • क्या है गुटखा और क्यों हैं इसके कई प्रकार भारत में बैन?
    व्यवहारिक

     06-12-2018 12:27 PM


  • मेरठ की लोकप्रिय हलीम बिरयानी का सफर
    स्वाद- खाद्य का इतिहास

     05-12-2018 11:58 AM


  • इतिहास को समेटे हुए है मेरठ का सेंट जॉन चर्च
    उपनिवेश व विश्वयुद्ध 1780 ईस्वी से 1947 ईस्वी तक

     04-12-2018 11:23 AM