Machine Translator

मेरठ में बागवानी व्यवसाय

मेरठ

 09-01-2018 07:02 PM
बागवानी के पौधे (बागान)

गंगा यमुना की दोआब में बसा मेरठ अपनी उपजाऊ जमीन की वजह से कृषि के लिए जाना जाता था। यह भारत के अर्धपतझड़ वाले वर्षाकालिक पवन और सवाना जंगल के क्षेत्र में आता है जो वनस्पति जीवन के लिए काफी अच्छा माना जाता है। पिछले कई सालों में हुई जंगलों की बेतरतीब कटौती और उद्योगों की वजह से बढ़ते प्रदुषण के कारण आज यहाँ वनस्पति एवं जीव जगत में काफी कमी हुई है और साथ ही वन आवरण भी मात्र 21314 हेक्टेयर ही बचा है। मेरठ में आज खेती के नाम पर बागवानी की जाती है और वह भी विशेषरूप से विदेशी फूलों की जिनकी माँग दिल्ली और आस-पास के शहरों में बहुत ज्यादा है। ये सभी फूल-पौधे घर और बागों की शोभा बढ़ाने के लिए तथा शादी या किसी कार्यक्रम में सजावट के लिए या फिर तो बाग-बगीचों, घरों के लिए उद्यान (लैंडस्केप) आदि के निर्माण में इस्तेमाल किये जाते हैं। रजनीगंधा जो मूल मेक्सिको का फूल है, ग्लेडियोलस- लिली यह एशिया सहित यूरोप में पाया जाता है तथा उष्णकटीबंधिय अफ्रीका और मुख्यतः साउथ अफ्रीका के दक्षिणी तट पर पाया जाने वाला फूल है, गेंदा जो दरअसल दक्षिण और उत्तर अमरीका से है, गुलाब और उसकी विविध देसी-विदेशी प्रजातियाँ जैसे फ्लिंडर्स रोज तथा बोगनविल की पुष्पलताएँ जो पुर्तगाल और अर्जेंटीना से पुरे विश्व में आयी हैं; इन सभी फूलों की प्रजातियों का मेरठ में खासा व्यापार होता है। मेरठ सी डैप रिपोर्ट के अनुसार सरकार पुष्पकृषि के लिए इन फूलों को बढ़ावा देना चाहती है। 1. द इलस्ट्रेटेड इनसाइक्लोपीडिया ऑफ़ फ्लोवेरिंग प्लांट्स 2. फ्लोवेरिंग ट्रीज: एम एस रंधावा 3. सी डैप मेरठ 2007 4. न्यू प्लांट रेकॉर्ड्स फॉर द अप्पर गंगेटिक प्लेन फ्रॉम मेरठ एंड इट्स नेबरहुड: वाय एस मूर्ति और वी सिंह (स्कूल ऑफ़ प्लांट मोर्फोलोजी, मेरठ)



RECENT POST

  • क्या है लुगदी साहित्य या पत्रिकाएं और कैसे है मेरठ से इनका सम्बन्ध?
    ध्वनि 2- भाषायें

     20-07-2019 11:14 AM


  • पीतल से बने विश्वप्रसिद्ध वाद्ययंत्रों के निर्माण का केंद्र है मेरठ
    ध्वनि 1- स्पन्दन से ध्वनि

     19-07-2019 11:38 AM


  • क्यों बसानी पड़ेगी हमें एक और पृथ्वी?
    उपनिवेश व विश्वयुद्ध 1780 ईस्वी से 1947 ईस्वी तक

     18-07-2019 12:13 PM


  • मेरठ के समीप महाभारत काल की चित्रित धूसर मृदभांड संस्कृति
    म्रिदभाण्ड से काँच व आभूषण

     17-07-2019 01:48 PM


  • अद्वैत वेदान्त और नव प्लेटोवाद के मध्य समानता
    विचार 2 दर्शनशास्त्र, गणित व दवा

     16-07-2019 02:22 PM


  • मेरठ में बढ़ती पक्षियों एवं वन्‍यजीवों की अवैध तस्‍करी
    पंछीयाँ

     15-07-2019 12:57 PM


  • रागों की रानी राग भैरवी
    ध्वनि 1- स्पन्दन से ध्वनि

     14-07-2019 09:00 AM


  • न्याय दर्शन में प्रमाण के हैं चार प्रकार
    विचार I - धर्म (मिथक / अनुष्ठान)

     13-07-2019 12:27 PM


  • झांसी में 1857 के विद्रोह को दर्शाता एक चित्र
    द्रिश्य 3 कला व सौन्दर्य

     12-07-2019 02:18 PM


  • क्या मेरठ में हो सकती है गुड़हल की खेती?
    बागवानी के पौधे (बागान)

     11-07-2019 01:00 PM






  • © - 2017 All content on this website, such as text, graphics, logos, button icons, software, images and its selection, arrangement, presentation & overall design, is the property of Indoeuropeans India Pvt. Ltd. and protected by international copyright laws.