पक्षियों को देखने के लिए भारत के सर्वश्रेष्ठ वन्यजीव अभयारण्यों में से एक है, पेरियार वन्यजीव अभयारण्य

मेरठ

 03-01-2021 12:59 PM
जंगल
दक्षिणी पश्चिमी घाट की इलायची पहाड़ियों और पंडालम पहाड़ियों में बसा अभयारण्य वनस्पतियों और जीवों की दुर्लभ और स्थानिक प्रजातियों को वर्गीकृत करता है या निवास प्रदान करता है। यह केरल के इडुक्की, कोट्टायम और पठानमथिट्टा जिलों में 925 वर्ग किलोमीटर के क्षेत्र में फैला हुआ है। अभयारण्य की वनस्पतियों में उष्णकटिबंधीय सदाबहार और नम पर्णपाती वन, घास के मैदान और फूलों की एक विस्तृत विविधता शामिल है। संरक्षित वन क्षेत्र एक महत्वपूर्ण बाघ और हाथी रिजर्व (Reserve) के रूप में जाना जाता है। पेरियार वन भारत में जंगली हाथियों के झुंड को देखने के लिए लोकप्रिय है। आप यहां बेहद दुर्लभ सफेद बाघ देख सकते हैं। यहां सामान्य रूप से देखे जाने वाले स्तनधारी हाथी, सांभर हिरण, भारतीय बाइसन (Bison), जंगल बिल्ली और नीलगिरि लंगूर हैं। पक्षियों को देखने के लिए पेरियार वन्यजीव अभयारण्य भारत के सर्वश्रेष्ठ वन्यजीव अभयारण्यों में से एक है। इस जंगल में लगभग 266 एवि फॉनल (Avi faunal- विशिष्ट क्षेत्र या अवधि के पक्षी) प्रजातियां हैं। यहां मालाबार ग्रे हॉर्नबिल (Malabar grey hornbill), नीली पंखों वाले तोते, नीलगिरि फ्लाईकैचर (Flycatcher) और ईगल (Eagle) उल्लू जैसे साइट (Sight) पक्षियों का अन्वेषण किया जा सकता है। यहां कई प्रकार के सरीसृप, उभयचर, मछली और कीड़े भी पाए जाते हैं। यदि आप पेरियार वन्यजीव अभयारण्य का दौरा करना चाहते हैं तो इसके लिए सबसे उपयुक्त मौसम अक्टूबर से जून तक का है।

संदर्भ:
https://www.youtube.com/watch?v=ES5fnSadHf0
https://www.youtube.com/watch?v=JGCOwro6C8s
https://en.wikipedia.org/wiki/Periyar_Wildlife_Sanctuary

RECENT POST

  • आध्यात्मिकता के आधार पर प्रकृति से संबंध बनाने की संभावना देती है, बायोडायनामिक कृषि
    भूमि प्रकार (खेतिहर व बंजर)

     20-05-2022 10:02 AM


  • हरियाली की कमी और बढ़ते कांक्रीटीकरण से एकदम बढ़ जाता है, शहरों का तापमान
    नगरीकरण- शहर व शक्ति

     19-05-2022 09:45 AM


  • खेती से भी पुराना है, मिट्टी के बर्तनों का इतिहास, कलात्मक अभिव्यक्ति का भी रहा यह साधन
    म्रिदभाण्ड से काँच व आभूषण

     18-05-2022 08:46 AM


  • भगवान गौतम बुद्ध के जन्म से सम्बंधित जातक कथाएं सिखाती हैं बौद्ध साहित्य के सिद्धांत
    विचार I - धर्म (मिथक / अनुष्ठान)

     17-05-2022 09:49 AM


  • हमारे बहुभाषी, बहुसांस्कृतिक देश में शैक्षिक जगत से विलुप्‍त होता भाषा अध्‍ययन के प्रति रूझान
    ध्वनि 2- भाषायें

     17-05-2022 02:06 AM


  • अपघटन में महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं, दीमक
    व्यवहारिक

     15-05-2022 03:31 PM


  • भोजन का स्थायी, प्रोटीन युक्त व् किफायती स्रोत हैं कीड़े, कम कार्बन पदचिह्न, भविष्य का है यह भोजन?
    तितलियाँ व कीड़े

     14-05-2022 10:11 AM


  • मेरठ में सबसे पुराने से लेकर आधुनिक स्विमिंग पूलों का सफर
    य़ातायात और व्यायाम व व्यायामशाला

     13-05-2022 09:38 AM


  • भारत में बढ़ रहा तापमान पानी की आपूर्ति को कर रहा है गंभीर रूप से प्रभावित
    जलवायु व ऋतु

     11-05-2022 09:07 PM


  • मेरठ की रानी बेगम समरू की साहसिक कहानी
    उपनिवेश व विश्वयुद्ध 1780 ईस्वी से 1947 ईस्वी तक

     11-05-2022 12:10 PM






  • © - 2017 All content on this website, such as text, graphics, logos, button icons, software, images and its selection, arrangement, presentation & overall design, is the property of Indoeuropeans India Pvt. Ltd. and protected by international copyright laws.

    login_user_id