मेरठ और तैमूर

मेरठ

 01-05-2017 12:00 PM
हथियार व खिलौने
किसी भी साम्राज्य की आधारशिला व उसकी सुरक्षा को बरकरार रखने मे आयुधों कि एक महत्वपूर्ण भूमिका रहती है| मेरठ जो की शुरुआती इतिहास के समय से ही व्यापार एवं वाणिज्य का मुख्य केन्द्र रहा है उस पर कई राजाओं की नज़र थी| तैमूर के हमले मे भी मेरठ का उल्लेख मिलता है, सम्बन्धित लेखों के अनुसार तैमूर ने मेरठ और भटनायर मे बारूदी सुरंगो का प्रयोग सन् 1398 किया था। यहाँ पर मिले लिखित पत्रों व चित्रों से यहाँ के प्रमुख आयुधों का ज्ञान होता है जिसमे शक्तिशाली तोप, तलवार, खंजर, बंदूक आदि प्रमुख हैं| वर्तमान में मेरठ संग्रहालय मे मेरठ के इतिहास से जुड़े कई आयुध सुरक्षित हैं|

RECENT POST

  • वेस्टइंडीज का चटनी संगीत हैं भारतीय भजन संग्रह
    ध्वनि 1- स्पन्दन से ध्वनि

     19-05-2019 10:00 AM


  • उत्तर प्रदेश के महत्वपूर्ण औद्योगिक क्षेत्रों में से एक मेरठ का औद्योगिक विवरण
    नगरीकरण- शहर व शक्ति

     18-05-2019 10:00 AM


  • उत्तर प्रदेश की अर्थव्यवस्था में मेरठ की दूसरे नम्बर पर है हिस्सेदारी
    विचार 2 दर्शनशास्त्र, गणित व दवा

     17-05-2019 10:30 AM


  • प्रकाशन उद्योगों का शहर मेरठ
    ध्वनि 2- भाषायें

     16-05-2019 10:30 AM


  • विलुप्त होने की कगार पर है मेरठ का यह शर्मीला पक्षी
    पंछीयाँ

     15-05-2019 11:00 AM


  • दुनिया भर की डाक टिकटों पर महाभारत का चित्रण
    द्रिश्य 3 कला व सौन्दर्य

     14-05-2019 11:00 AM


  • एक ऐसी योजना जो कम करेगी मेरठ-दिल्ली के बीच के फासले को
    नगरीकरण- शहर व शक्ति

     13-05-2019 11:00 AM


  • माँ की ममता की झलक
    विचार 2 दर्शनशास्त्र, गणित व दवा

     12-05-2019 12:07 PM


  • महाभारत का चित्रयुक्त फारसी अनुवाद ‘रज़्मनामा’
    ध्वनि 2- भाषायें

     11-05-2019 10:30 AM


  • कैसे हुई हमारे उपनामों की उत्पत्ति?
    विचार 2 दर्शनशास्त्र, गणित व दवा

     10-05-2019 12:00 PM