सुरक्षित वातावरण में लोगों से संपर्क करने की लाभ और हानि

मेरठ

 07-11-2020 01:52 AM
नगरीकरण- शहर व शक्ति

हालांकि भारत में सख्त लॉकडाउन (Lockdown) खत्म हो गया है, लेकिन बड़े शहरों में रह रहे लोगों को किसी न किसी तरह घर/अपार्टमेंट (Apartment) में से स्व-प्रबंधन के साथ कोविड सुरक्षित वातावरण को बनाए हुए रहना जारी रखना होगा। कोविड (Covid) सुरक्षित वातावरण का मतलब है कि हम अपने करीबी दोस्तों या रिश्तेदारों के साथ बिना मास्क का उपयोग करके या समजीक दूरी बनाए बिना बातचीत कर सकते हैं, जबकि सख्त लॉकडाउन (Lockdown) में यह हम केवल अपने घर के सदस्यों के साथ बनाए रखते थे। विस्तारित वातावरण का मतलब है कि आप अपने घर के सदस्यों के अलावा अन्य निकट संपर्क वाले लोगों को अपने घर में आने दे सकते हैं। उनका विशिष्ट होना आवश्यक है ताकि संक्रमण का जोखिम निहित रहें और उन्हें शहर में ही रहने की आवश्यकता होगी। आइए हम पिछले 8 महीनों में विश्वव्यापी अध्ययन से कोविड सुरक्षित वातावरण के लाभ और हानि को समझने की कोशिश करें:
कोविड सुरक्षित वातावरण सामाजिक संपर्क के लिए हमारी आवश्यकता के साथ कोविड-19 के संपर्क के जोखिम को संतुलित करने का एक तरीका है, जिससे असुरक्षित और अलग-थलग रह रहे लोगों को एक महामारी के तनाव से निपटने में मदद करने के लिए सामाजिक संबंध बनाने की अनुमति मिलती है। समजीक संपर्क तनाव के कई जोखिमों को कम करता है, जैसे कई लोग काफी सामाजिक प्रवृति के होते हैं उनके लिए अधिक समय तक अकेले रहना काफी तनावपूर्ण हो सकता है। अन्य लोगों के साथ संचरण के जोखिम को कम करने के लिए आप उनसे संपर्क करने से पहले लगभग 14 दिनों का अंतर रखें। अलगाव तनाव का कारण बनता है और सहयोग को कम कर सकता है लेकिन एक संवेक्षाशील सुरक्षित वातावरण अकेले रहने वाले लोगों और दोस्तों, विस्तारित परिवार और अलगाव से परेशान व्यक्तियों के लिए अलगाव की भावना को कम करके लचीलापन को बढ़ावा दे सकता है। सामाजिक लाभों के बावजूद, वास्तव में कोरोनावायरस जैसी संक्रामक महामारी के साथ कई जोखिम भी हैं, जैसे मान लीजिए यदि आप अकेले रह रहे थे और आप तीन अन्य लोगों के साथ मिलना शुरू कर देते हैं, जिनमें से सभी आपकी तरह ही एहतियात बरतते हैं, तो आपके कोरोनावायरस से संक्रमित होने की संभावना कम रहती है, लेकिन वह कम संभावना फिर भी संक्रमित कर सकती है और आपसे अन्य लोग भी संक्रमित हो सकते हैं। साथ ही जितना बड़ा समूह उतनी बड़ी जिम्मेदारी आपके ऊपर आएगी। सभी समान नियमों का पालन करने की आवश्यकता होगी, जैसे मान लीजिए कोई व्यक्ति अपनी दैनिक गतिविधियों को करते वक्त मास्क का उपयोग नहीं करता है तो उसे समूह में शामिल होने के लिए इन नियमों का पालन करना आवश्यक है। समूह के अन्य सभी लोगों के साथ ईमानदार रहना होगा व अपनी लगभग सभी गतिविधियों के बारे में उन्हें स्पष्ट रूप से बताएं। संभवतः कोशिश करें आप अपने दोस्तों या रिश्तेदारों के साथ बिताए गए वक्त की तस्वीरें सामाजिक मीडिया में साक्षा न करें क्योंकि यह अकेले रहने वाले व्यक्ति को परेशान कर सकता है।
सबूत बताते हैं कि लंबे समय तक अकेलापन महसूस करना स्वास्थ्य के लिए हानिकारक है। ये भावनाएं बीमारी में भी बदल जाती है। अकेले और सामाजिक रूप से अलग-थलग महसूस करना अस्वास्थ्यकर व्यवहार में योगदान कर सकता है जैसे बहुत कम व्यायाम करना, बहुत अधिक शराब पीना और धूम्रपान करना। अकेलापन भी एक महत्वपूर्ण सामाजिक तनाव है जो शरीर के तनाव प्रतिक्रियाओं को सक्रिय कर सकता है। इस प्रतिक्रिया से सूजन बढ़ सकती है और प्रतिरक्षा कम हो सकती है, खासकर बुजरगों। सूजन संक्रमण से लड़ने या चोट को ठीक करने के लिए शरीर की प्रतिक्रिया है, लेकिन जब यह अनियंत्रित हो जाती है तो यह स्वास्थ्य पर हानिकारक प्रभाव डाल सकता है। तनाव हार्मोन (Hormones) यह सुनिश्चित करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है कि सूजन नियंत्रण से बाहर न हो। लेकिन, पुराने तनाव के तहत, शरीर तनाव हार्मोन के प्रभावों के प्रति कम संवेदनशील हो जाता है, जिससे सूजन और अंततः बीमारी बढ़ जाती है। वहीं स्वस्थ वृद्ध लोगों में, अकेलापन एक तनाव हार्मोन प्रारूप से संबंधित है जो उन लोगों के समान है जो पुराने तनाव से गुजर रहे हैं।

संदर्भ :-
https://www.technologyreview.com/2020/05/09/1001547/coronavirus-bubble-pod-quaranteam-social-distancing-negotiation/
https://sphcm.med.unsw.edu.au/news/what-covid-bubble-concept-and-could-it-work-australia
https://theconversation.com/the-loneliness-of-social-isolation-can-affect-your-brain-and-raise-dementia-risk-in-older-adults-141752
चित्र सन्दर्भ:
पहली छवि लोगों को उनके सामाजिक कोविद बुलबुले में कोरोना से बचने के लिए दिखाती है।(getty images)
दूसरी छवि कोविद बुलबुला प्रबंधन के पेशेवरों को दिखाती है क्योंकि यह हमें कोरोना वायरस से बचाने में मदद करता है।(istock)
तीसरी छवि कोविद बुलबुले के विपक्ष को दिखाती है क्योंकि यह लोगों को अकेलेपन और अवसाद में घसीटता है।(canva)


RECENT POST

  • सदियों से फैशन के बदलते रूप को प्रदर्शित करती हैं, फ़यूम मम्मी पोर्ट्रेट्स
    द्रिश्य 3 कला व सौन्दर्य

     28-11-2020 07:10 PM


  • वृक्ष लगाने की एक अद्भुत जापानी कला बोन्साई (Bonsai)
    पेड़, झाड़ियाँ, बेल व लतायें

     28-11-2020 09:03 AM


  • गंध महसूस करने की शक्ति में शहरीकरण का प्रभाव
    गंध- ख़ुशबू व इत्र

     27-11-2020 08:34 AM


  • विशिष्ट विषयों और प्रतीकों पर आधारित है, जैन कला
    द्रिश्य 3 कला व सौन्दर्य

     26-11-2020 09:05 AM


  • सेना में बैंड की शुरूआत और इसका विस्‍तार
    द्रिश्य 2- अभिनय कला

     25-11-2020 10:26 AM


  • अंतिम ‘वस्तुओं’ के अध्ययन से सम्बंधित है, ईसाई एस्केटोलॉजी
    विचार I - धर्म (मिथक / अनुष्ठान)

     24-11-2020 08:13 AM


  • क्वांटम कंप्यूटिंग को रेखांकित करते हैं, क्वांटम यांत्रिकी के सिद्धांत
    विचार 2 दर्शनशास्त्र, गणित व दवा

     22-11-2020 10:22 AM


  • धार्मिक महत्व के साथ-साथ ऐतिहासिक महत्व से भी जुड़ा है, श्री औघड़नाथ शिव मन्दिर
    वास्तुकला 1 वाह्य भवन

     22-11-2020 08:16 PM


  • हिन्‍दू-मुस्लिम की एकता का प्रतीक हज़रत शाहपीर की दरगाह
    वास्तुकला 1 वाह्य भवन

     21-11-2020 06:25 AM


  • व्यवसायों और उद्यमशीलता को महत्वपूर्ण रूप से प्रभावित करते हैं, प्रवासी नागरिक
    सिद्धान्त 2 व्यक्ति की पहचान

     20-11-2020 09:33 PM






  • © - 2017 All content on this website, such as text, graphics, logos, button icons, software, images and its selection, arrangement, presentation & overall design, is the property of Indoeuropeans India Pvt. Ltd. and protected by international copyright laws.

    login_user_id