Machine Translator

प्राकृतिक गैस के उपयोग से भारत को हो सकता है आर्थिक लाभ

मेरठ

 03-12-2019 12:32 PM
नगरीकरण- शहर व शक्ति

प्राकृतिक गैस आधुनिक युग का ईंधन है, इसे जीवाश्म गैस भी कहा जाता है। साथ ही यह प्राकृतिक रूप से पाया जाने वाला हाइड्रोकार्बन गैस (Hydrocarbon Gas) मिश्रण है, जिसमें मुख्य रूप से मीथेन (Methane) होता है और अन्य भिन्न मात्रा में कार्बन डाइऑक्साइड (Carbon Dioxide), नाइट्रोजन (Nitrogen), हाइड्रोजन सल्फाइड (Hydrogen Sulphide) या हीलियम (Helium) पाया जा सकता है। इसका निर्माण तब होता है जब करोड़ों वर्षों में पृथ्वी की सतह के नीचे तेज़ गर्मी और दबाव से पौधों और जानवरों के पदार्थ सड़ने लगते हैं। इसमें मूल रूप से पौधों द्वारा सूर्य से प्राप्त ऊर्जा को गैस के रूप में संग्रहित किया जाता है।

प्राकृतिक गैस का उपयोग ऊर्जा के स्रोत के रूप में गरम करने, खाना पकाने और बिजली उत्पादन के लिए किया जाता है। इसका उपयोग वाहनों के ईंधन के रूप में और प्लास्टिक (Plastic) और अन्य व्यावसायिक रूप से महत्वपूर्ण कार्बनिक रसायनों के निर्माण में एक रासायनिक कच्चे माल के रूप में भी किया जाता है। वहीं इस गैस का जलवायु परिवर्तन पर एक जटिल प्रभाव पड़ता है, साथ ही यह स्वयं एक ग्रीनहाउस गैस (Greenhouse Gas) है और जलने पर कार्बन डाइऑक्साइड छोड़ती है। हालांकि प्राकृतिक गैस का उपयोग अक्सर कोयले के उपयोग को रोक देता है, जो पर्यावरण के लिहाज़ से ज़्यादा हानिकारक है।

यह गैस गहरी भूमिगत पत्थरों की संरचनाओं में या कोयले के तल में और अन्य मीथेन जालकवत के रूप में अन्य हाइड्रोकार्बन जलाशयों से जुड़ी होती है। पेट्रोलियम (Petroleum) एक अन्य संसाधन और जीवाश्म ईंधन है जो प्राकृतिक गैस के साथ और उसके करीब पाया जाता है। दरसल प्राकृतिक गैस की खोज प्राचीन चीन में किसी और द्रव्य (ब्राइन/Brine) के लिए ड्रिलिंग (Drilling) करते हुए दुर्घटनावश हुई थी और वहीं इसका उपयोग सबसे पहले चीनियों ने लगभग 500 ईसा पूर्व में किया था।

कई देशों के सकल घरेलू उत्पाद में प्राकृतिक गैस उद्योग का बहुत बड़ा योगदान है। यह प्रकृति में बड़े पैमाने पर हज़ारों को रोज़गार देता है और संबद्ध राजस्व और कर आय में लाखों डॉलर प्रदान करता है, क्योंकि आर्थिक रूप से व्यवहार्य होने के लिए प्राकृतिक गैस को पर्याप्त मात्रा में ज़मीन से निकालना पड़ता है।

प्राकृतिक गैस अन्य उद्योगों को भी सक्षम बनाती है, विशेष रूप से वे जो बहुत ऊर्जा गहन करते हैं। यू.एस. में प्राकृतिक गैस उत्पादन ने 2008 में देश के सकल घरेलू उत्पाद में 385 बिलियन डॉलर संकलित किए थे। वहीं शेल गैस (Shale Gas) उद्योग ने 2010 में अमेरिकी सकल घरेलू उत्पाद में 76 बिलियन डॉलर से अधिक का योगदान दिया और 2035 तक देश के आर्थिक प्रदर्शन में 231 बिलियन डॉलर जोड़ने की उम्मीद है।

हाल ही में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा था कि देश आने वाले कुछ वर्षों में गैस-आधारित अर्थव्यवस्था में बदल जाएगा। यह बात प्रधानमंत्री ने शहरी गैस वितरण प्रक्रिया के नौवें दौर के तहत 129 ज़िलों के 65 भौगोलिक क्षेत्रों में शहर गैस वितरण परियोजना की आधारशिला रखते हुए कही थी। यदि देखा जाए तो यह किसी ख्वाब के हकीकत में बदल जाने जैसा है, ऐसा इसलिये कि गैस-आधारित अर्थव्यवस्था में ऊर्जा पर आने वाली लागत बहुत कम हो जाती है और यह पर्यावरण के अनुकूल भी होती है।

अन्य पारंपरिक ईंधनों के मुकाबले प्राकृतिक गैस का आर्थिक लाभ यह है कि यह द्रवीभूत पेट्रोलियम गैस (एल.पी.जी.) की तुलना में 40% सस्ती है। अक्सर पेट्रोल और डीज़ल के विकल्प के रूप में संपीड़ित प्राकृतिक गैस (सी.एन.जी.) पेट्रोल की तुलना में 60% सस्ती और डीज़ल की तुलना में 45% सस्ती होती है। इससे टैक्सी (Taxi) चालकों के बिलों में अतिरिक्त बचत होगी और यह तेज़ी से सामाजिक-आर्थिक विकास को प्रभावित करेगा।

नवंबर 2018 तक देश में 1,491 सी.एन.जी. स्टेशन (CNG station), 1,90,836 सी.एन.जी. वाहन, 46,40,998 घरेलू, 27,097 वाणिज्यिक और 8,278 औद्योगिक संयोजन थे। वर्तमान में, 16,226 कि.मी. गैस पाइपलाइनें हैं जिनकी क्षमता 36.85 करोड़ क्यूबिक मीटर प्रति दिन है। इसके अलावा, 11,216 किमी. पाइपलाइन निर्माणाधीन है। प्राकृतिक गैस या तो घरेलू रूप से देश में ही उत्पादित होती है या इसका द्रवीकृत प्राकृतिक गैस के रूप में आयात किया जाता है। भारत में इसका उत्पादन असम, बॉम्बे हाई, कृष्णा-गोदावरी बेसिन और कावेरी बेसिन में होता है। इसके अलावा, देश में चार द्रवीकृत प्राकृतिक गैस आयात टर्मिनल (Terminal) हैं - गुजरात में दाहेज और हाज़िरा, महाराष्ट्र में धाभोल और केरल में कोच्चि। इन सभी की कुल क्षमता 2.67 करोड़ टन स्टैंडर्ड क्यूबिक मीटर प्रतिवर्ष है। इनके अलावा तमिलनाडु के एन्नोर और ओडिशा के धामरा में दो अन्य द्रवीकृत प्राकृतिक गैस टर्मिनल निर्माणाधीन हैं।

संदर्भ :-
1.
https://en.wikipedia.org/wiki/Natural_gas
2. https://bit.ly/2Resh8r
3. https://www.igu.org/natural-gas-powers-economic-growth
4. https://bit.ly/2Y8lajh
चित्र सन्दर्भ:-
1.
https://www.flickr.com/photos/30478819@N08/46530563244/
2. https://pixabay.com/pt/photos/g%C3%A1s-natural-pesquisa-863229/
3. https://www.maxpixels.net/Energy-Natural-Gas-Gas-Flame-Flame-Oil-Drillers-2720980
4. https://commons.wikimedia.org/wiki/File:ONGC_Oil_Platform.jpg
5. https://www.flickr.com/photos/archer10/2215055432



RECENT POST

  • क्या 21वीं सदी का शहरीकरण है नियंत्रण से बाहर?
    नगरीकरण- शहर व शक्ति

     28-01-2020 12:00 AM


  • आयुर्वेद में भी मिलता है गम्हड़ के गुणों का वर्णन
    पेड़, झाड़ियाँ, बेल व लतायें

     27-01-2020 10:00 AM


  • कहाँ से आया है, रिपब्लिक (Republic, गणतंत्र) शब्द और क्या है इसका अर्थ?
    विचार 2 दर्शनशास्त्र, गणित व दवा

     26-01-2020 10:00 AM


  • जीवन के हर पहलू से जुड़ा है पाई
    विचार 2 दर्शनशास्त्र, गणित व दवा

     25-01-2020 10:00 AM


  • मानव जीवन में एर्गोनॉमिक्स (Ergonomics) का महत्व
    घर- आन्तरिक साज सज्जा, कुर्सियाँ तथा दरियाँ

     24-01-2020 10:00 AM


  • कैसा है, समुद्र की गहराइयों में रहने वाले जीवों का जीवन?
    निवास स्थान

     23-01-2020 10:00 AM


  • वर्णक के रूप में उपयोग किया जाता है गेरू
    खनिज

     22-01-2020 10:00 AM


  • आलमगीरपुर गाँव से मिले सिंधु सभ्यता से जुड़े साक्ष्य
    सभ्यताः 10000 ईसापूर्व से 2000 ईसापूर्व

     21-01-2020 10:00 AM


  • हमारे देश के मौन रक्षकों के लिए खुला है, मेरठ में पुनर्वास केंद्र
    स्तनधारी

     20-01-2020 10:00 AM


  • क्या है, अंतर्राष्ट्रीय सिनेमा में इतालवी (Italian) सिनेमा का योगदान?
    द्रिश्य 2- अभिनय कला

     19-01-2020 10:00 AM






  • © - 2017 All content on this website, such as text, graphics, logos, button icons, software, images and its selection, arrangement, presentation & overall design, is the property of Indoeuropeans India Pvt. Ltd. and protected by international copyright laws.