Machine Translator

बदलते वक़्त के साथ हज यात्रा में प्रौद्योगिकी की भूमिका

मेरठ

 09-08-2019 03:32 PM
संचार एवं संचार यन्त्र

21वीं सदी को यदि प्रौद्योगिकी का युग कहा जाए तो इसमें कोई अतिशयोक्ति नहीं होगी। आज विश्‍व का शायद ही कोई ऐसा पहलू होगा, जो तकनीकों के उपयोग से अछुता रहा हो, यहां तक कि धार्मिक क्षेत्रों में भी इसका व्‍यापक उपयोग किया जा रहा है। आज हम हज यात्रा में तकनीकी की भूमिका के विषय में बात करेंगे। हज इस्‍लाम धर्म का पांचवा स्‍तंभ है तथा शा‍रीरिक और आर्थिक रूप से सक्षम प्रत्‍येक मुसलमान के लिए जीवन में एक बार हज यात्रा अनिवार्य है।

सऊदी अरब द्वारा प्रत्‍येक वर्ष हज यात्रा आयोजित कराई जाती है, जिसमें लाखों (लगभग 20 लाख से भी अधिक) हज यात्री जल, थल, वायु यान के माध्‍यम से इसमें हिस्‍सा लेने आते हैं। हज यात्रियों की यात्रा सरल एवं सुरक्षित बनाने हेतु सऊदी सरकार आधुनिक तकनीकों का उपयोग कर रही है, जिसमें इलेक्‍ट्रॉनिक (Electronic) सेवाओं का व्‍यापक उपयोग किया जा रहा है। इन तकनीकी सुविधाओं ने वास्‍तव में हज यात्रा को काफी आसान बना दिया है। प्रौद्योगिकी के माध्‍यम से हज यात्रा प्रारंभ होने से लेकर समाप्‍त होने तक के बीच यात्रियों की छोटी-छोटी आवश्‍यकताओं पर ध्‍यान केंद्रित किया जा रहा है।

हज यात्रा में प्रौद्योगिकी के लाभ इस प्रकार हैं:
• कोई भी व्‍यक्ति जो हज यात्रा करना चाहता है, उनके लिए पोर्टल बनाए गए हैं, जिसमें वे अपनी यात्रा की सूचना दे सकते हैं।
• यात्रियों को मोबाइल में 4G सुविधाएं देने के लिए मक्‍का के आसपास 3,000 मोबाइल एंटीना (Mobile Antenna) लगाए गए हैं। इसके साथ ही पूरी यात्रा में वाई-फाई (Wifi) सुविधा प्रदान की जा रही है।
• मोबाइल टावर्स (Mobile Towers) यात्रियों को अपने परिवार के साथ संपर्क बनाए रखने और मंत्रालय की ऑनलाइन (Online) सेवाओं का उपयोग करने के लिए निर्बाध 4G मोबाइल इंटरनेट (Internet) सेवा प्रदान करेंगे।
• काबा में प्रवेश करने के बाद उसके भीतर अनेक धार्मिक गतिविधियां संपन्‍न की जाती हैं, जिनकी जानकारी यात्रियों को मोबाइल ऐप्लीकेशन (Application) के माध्‍यम से दे दी जाती है। इसके साथ ही मोबाइल ऐप हवाई उड़ानों की पूर्व जानकारी भी दे देते हैं।
• यात्रियों का डिजिटल स्‍वास्‍थ्‍य रिकॉर्ड (Digitalised Health Record) रखा जा रहा है, ताकि यात्रा के दौरान किसी भी प्रकार की चिकित्‍सीय सुविधाएं आसानी से मुहैया कराई जा सकें।
• ऐसेफ्नी (Asefny) नामक ऐप्लीकेशन के माध्‍यम से आप अपनी स्‍वास्‍थ्‍य रिपोर्ट भेज सकते हैं तथा आपात स्थिति में अपने लिए आवश्‍यक चिकित्‍सीय सुविधाएं मंगा सकते हैं। ऐप के माध्‍यम से हजयात्री के स्‍थान को ट्रेक (Track) करके आवश्‍यक चिकित्‍सीय सुविधाएं दी जाती हैं।
• सुरक्षा की दृष्टि से मक्‍का के चारों ओर कैमरे (Camera) लगाए गए हैं, जिनकी निगरानी सऊदी पुलिसकर्मियों द्वारा की जाती है। यह व्‍यवस्‍था को भंग करने वाले किसी भी उपद्रव्‍य पर नज़र रखते हैं।
• हजारों तीर्थयात्रियों के शिविरों की निगरानी हेलीकॉप्टर द्वारा की जाती है।

हालांकि, इन सभी सकारात्मकताओं के बावजूद, प्रौद्योगिकी का हज में उपयोग हज यात्रियों को इसकी आध्‍यात्मिकता से दूर ले जा रहा है। क्‍योंकि मोबाइल और अन्‍य साधनों के उपयोग से लोगों का ध्‍यान यात्रा से ज्‍यादा वीडियो कॉल (Video call) और सेल्फी (Selfie) में लग जाता है। आधुनिक सुविधाओं के बीच हो सकता है अक्‍सर लोग हज पर ध्‍यान केंद्रित करने की बजाए स्‍वयं पर ही ध्‍यान केंद्रित करने लगें। हज का प्रमुख उद्देश्‍य मानव को भौतिकता से आध्‍यात्मिकता की ओर ले जाना है, जो प्रौद्योगिकी की उपस्थिति में शायद संभव नहीं। इसलिए प्रौद्योगिकी का उपयोग तो किया जाना चाहिए किंतु एक सीमा तक, जिससे हज का महत्‍व बरकरार रहे।

संदर्भ:
1. https://bit.ly/2YAwKXK
2. https://bit.ly/2KF7MNk
3. https://bit.ly/2YOnFpv



RECENT POST

  • स्वस्थ और खुशहाल जीवन प्रदान करने की अवधारणा पर आधारित है, नया शहरीवाद
    नगरीकरण- शहर व शक्ति

     09-04-2020 01:50 PM


  • N95 श्वासयंत्र के विकल्प में घर में ही एक प्रभावी मास्क कैसे बनाएं ?
    विचार 2 दर्शनशास्त्र, गणित व दवा

     08-04-2020 05:10 PM


  • शहरीकरण का ही एक रूप है, संक्रामक रोग
    नगरीकरण- शहर व शक्ति

     07-04-2020 05:00 PM


  • क्यों इतना भयावह हो गया है, कोरोना का प्रभाव ?
    विचार 2 दर्शनशास्त्र, गणित व दवा

     06-04-2020 03:40 PM


  • कैसे होता है, कोरोना का मानव शरीर पर प्रभाव
    कीटाणु,एक कोशीय जीव,क्रोमिस्टा, व शैवाल

     05-04-2020 03:45 PM


  • आयुर्वेद में भी मिलता है कनक चम्पा के औषधीय गुण का वर्णन
    पेड़, झाड़ियाँ, बेल व लतायें

     04-04-2020 01:10 PM


  • दिल्ली की इस मस्जिद का नाम सुनके उड़ जाएंगे होश
    मध्यकाल 1450 ईस्वी से 1780 ईस्वी तक

     03-04-2020 02:40 PM


  • माँ दुर्गा के सबसे अधिक पूजित रूपों में से एक है कात्यायनी स्वरूप
    विचार I - धर्म (मिथक / अनुष्ठान)

     02-04-2020 04:15 PM


  • तीक्ष्णता, शक्ति और स्थायित्व के लिए प्रसिद्ध है मेरठ की कैंची
    वास्तुकला 2 कार्यालय व कार्यप्रणाली

     01-04-2020 04:55 PM


  • क्या प्रभाव होगा मनुष्य पर इस एकांतवास का?
    विचार 2 दर्शनशास्त्र, गणित व दवा

     31-03-2020 03:35 PM






  • © - 2017 All content on this website, such as text, graphics, logos, button icons, software, images and its selection, arrangement, presentation & overall design, is the property of Indoeuropeans India Pvt. Ltd. and protected by international copyright laws.