महाभारत का एक विचित्र जीव नवगुंजर

मेरठ

 24-04-2019 07:00 AM
शारीरिक

अक्सर पौराणिक कथाओं में हमें ऐसे पशुओं का उल्लेख मिलता है, जिनकी उपस्थिति वास्तविक जगत में शायद असंभव है। कामधेनु, नरसिंह, गरूड़, हनुमान, यूनान के सेंटूर और मिस्र के स्फिंक्स आदि कुछ ऐसे ही अद्भूत जीव हैं। महाभारत में भी कई ऐसे विचित्र जीवों का वर्णन किया गया है, आज हम इन्हीं जीवों में से एक नवगुंजर के विषय में उल्लेख कर रहे हैं। नवगुंजर का जिक्र मात्र उड़ीसा की महाभारत में देखने को मिलता है, अन्यत्र महाभारत के किसी भी संस्करण में इसका कोई उल्लेख नहीं किया गया है। यहां तक कि महाभारत के प्रमुख क्षेत्र हस्तिनापुर और इसके आस पास के इलाके के लोग इस जीव से अनभिज्ञ हैं।

सरला दास द्वारा लिखित महाभारत में अर्जुन निर्वासन के दौरान मणिभद्र की पहाड़ी में तपस्या कर रहे थे, तभी वे एक अनोखे जीव को देखते हैं। जिसका पूरा शरीर नौ पशुओं से मिलकर बना था अर्थात सिर- मूर्गे का, गर्दन-मौर की, कूबड़- बैल का, कमर-शेर की, तीन पैर क्रमशः हाथी, बाघ और घोड़े के तथा चौथा मानव का हाथ था, जिसमें कमल का फूल पकड़ा हुआ है, इस पशु की पूंछ सांप की थी। प्रारंभ में, अर्जुन इसे देखकर घबरा गये और इसे मारने के लिए धनूष उठा लिया। किंतु कुछ क्षण बाद उन्हें एहसास हुआ कि इस प्रकार का विचित्र जीव इस पृथ्वी में कैसे जीवित रह सकता है। जब वे इस पशु के हाथ में कमल देखते हैं, तब उन्हें आभास होता है कि यह और कोई नहीं वरन् भगवान विष्णु के अवतार श्री कृष्ण हैं तथा वे झूककर उनसे आर्शीवाद लेते हैं। फिर भगवान श्री कृष्ण प्रकट होकर बताते हैं कि भगवद्गीता के विराटस्वरूप के समान ही नवगुंजर भी उनका ही एक स्वरूप है।

जगन्नाथ मंदिर, पुरी के उत्तरी भाग में नवगुंजर और अर्जुन के चित्र को उकेरा गया है। गंजिफा प्लेइंग कार्ड में भी नवगुंजर का उल्लेख देखने को मिलता है इसमें राजा के कार्ड में नवगुंजर का तथा मंत्री के कार्ड में अर्जुन का चित्र उकेरा गया है। उड़ीसा के कुछ हिस्सों में विशेषकर पुरी जिले में इस सेट को नवगुंजर के नाम से जाना जाता है।


संदर्भ:
1.https://en.wikipedia.org/wiki/Navagunjara
2.https://www.speakingtree.in/article/the-mythical-navagunjara
3.http://utkarshspeak.blogspot.com/2015/01/navagunjara.html
3.https://kgorman.ca/monster-monday-phoenix/
4.https://bit.ly/2IBWIC0
चित्र सन्दर्भ :
1. https://bit.ly/2Vn6JZI

2. https://bit.ly/2GAZ01Y



RECENT POST

  • शहरों और खासकर मेरठ में बढ़ती तेंदुओं की घुसपैठ
    स्तनधारी

     22-05-2019 10:30 AM


  • क्यों मिलते हैं वेस्टइंडीज़ क्रिकेटरों के नाम भारतीय नामों से?
    उपनिवेश व विश्वयुद्ध 1780 ईस्वी से 1947 ईस्वी तक

     21-05-2019 10:30 AM


  • अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (ICC) का इतिहास
    उपनिवेश व विश्वयुद्ध 1780 ईस्वी से 1947 ईस्वी तक

     20-05-2019 10:30 AM


  • वेस्टइंडीज का चटनी संगीत हैं भारतीय भजन संग्रह
    ध्वनि 1- स्पन्दन से ध्वनि

     19-05-2019 10:00 AM


  • उत्तर प्रदेश के महत्वपूर्ण औद्योगिक क्षेत्रों में से एक मेरठ का औद्योगिक विवरण
    नगरीकरण- शहर व शक्ति

     18-05-2019 10:00 AM


  • उत्तर प्रदेश की अर्थव्यवस्था में मेरठ की दूसरे नम्बर पर है हिस्सेदारी
    विचार 2 दर्शनशास्त्र, गणित व दवा

     17-05-2019 10:30 AM


  • प्रकाशन उद्योगों का शहर मेरठ
    ध्वनि 2- भाषायें

     16-05-2019 10:30 AM


  • विलुप्त होने की कगार पर है मेरठ का यह शर्मीला पक्षी
    पंछीयाँ

     15-05-2019 11:00 AM


  • दुनिया भर की डाक टिकटों पर महाभारत का चित्रण
    द्रिश्य 3 कला व सौन्दर्य

     14-05-2019 11:00 AM


  • एक ऐसी योजना जो कम करेगी मेरठ-दिल्ली के बीच के फासले को
    नगरीकरण- शहर व शक्ति

     13-05-2019 11:00 AM