लोहे के सामानों पर कैसे लगता है जंग और कैसे छुड़ाएं इससे पीछा?

मेरठ

 08-02-2019 07:07 PM
घर- आन्तरिक साज सज्जा, कुर्सियाँ तथा दरियाँ

आपने अक्‍सर देखा होगा की घरों में यदि लोहे के चाकू, हथोड़े, पेंचकस या किसी अन्य औज़ार को किसी नमी वाले स्थान में कुछ दिनों के लिये रख दिया जाये तो इन चीज़ों पर कत्थई या भूरे रंग की एक परत सी जम जाती है। इसी को जंग लगना कहते हैं। यहां तक की मेरठ की प्रसिद्ध कैंचीयों को भी यदि किसी नमी वाले स्थान में कुछ दिनों के लिये रख दिया जाये तो वो भी जंग से बच नहीं पाती हैं। कई बार तो ऐसा भी होता है कि हमारी सावधानी के बावजूद हम चाकू या कैंची को जंग लगने से नहीं बचा पाते। लेकिन क्या आपने कभी सोचा है कि ऐसा कैसे होता है? कैसे धातु की चीजों पर जंग लग जाती है?

आइये देखते हैं कि लोहे में जंग कैसे लगता है:
हमारे चारों ओर सब कुछ विभिन्न रसायनों से बना हुआ है। ये सभी रसायन परमाणुओं से मिलकर बने होते हैं। परमाणु नए रसायन बनाने के लिए एक अन्‍य परमाणुओं के साथ जुड़ जाते हैं और रासायनिक यौगिक बना सकते हैं। इसी प्रकार जब लोहा पानी तथा ऑक्सीजन के संपर्क में आता है तो जंग लग जाता है। लोहे से बना सामान नमी वाली हवा में ऑक्सीजन से प्रतिक्रिया करता है तो लोहे पर एक भूरे रंग की परत यानी आयरन ऑक्साइड (Iron oxide) जम जाती है, इस प्रक्रिया को लोहे में जंग लगना कहते हैं।

जंग का वास्तविक रासायनिक अभिक्रया:
4Fe + 3O2 + 6H2O → 4Fe(OH)3

जंग एक लोहे का ऑक्साइड है, जो आमतौर पर लाल रंग का ऑक्साइड होता है। ये पानी या हवा में नमी की उपस्थिति में लोहे की ऑक्सीजन के साथ रेडॉक्स प्रतिक्रिया से बनता है। जंग में हाइड्रेटेड आयरन (III) ऑक्साइड Fe2O3 · nH2O और आयरन (III) ऑक्साइड-हाइड्रॉक्साइड (FeO (OH), Fe (OH)3) होते हैं। यह प्रक्रिया चलती रहती है तथा धीरे-धीरे लोहे का पूरा सामान खराब हो जाता है। इस तरह आयरन ऑक्साईड का बनना लोहे में जंग लगना कहलाता है।

लोहे के फर्नीचर को जंग से कैसे बचाये:
लोहे पर जंग लगने को प्लास्टिक, पेस्ट वैक्स, पेंट, ग्रीस या तेल की परत चढ़ा कर कुछ हद तक रोका जा सकता है। इस पतली परत के कारण लोहे के परमाणु पानी के संपर्क में नहीं आ पाते इसलिए ऑक्सीजन लोहे से संयोग नहीं कर पाती और जंग नहीं लग पाता। साथ ही नियमित रखरखाव धातु के फर्नीचर को जंग लगने के खतरे से दूर रखता है। अपने लोहे के सामान के हर हिस्से को साफ सूखे कपड़े से पोंछे खासकर नम मौसम में, बारिश में और सीधी धूप से बचाएं। आप चाहें तो सामान को ढक कर भी उसे जंग से बचा सकते हैं।

लोहे आदि से बने सामानों पर जिंक धातु की परत चढ़ाने की प्रक्रिया को यशद लेपन कहते हैं। जिंक की परत लोहे से बने सामान को हवा में उपस्थित पानी तथा ऑक्सीजन के संपर्क में आने से रोकते हैं, जिससे उन्हें जंग से बचाया जा सकता है। इसके अलावा जंगरोधी इस्पात, क्रोमियम (III) ऑक्साइड की एक परत बनाई जाती है जोकि जंग से बचाती है तथा साथ ही मैग्नीशियम, टाइटेनियम, जस्ता ऑक्साइड, एल्यूमीनियम, और अन्य इलेक्ट्रोएक्टिव प्रवाहीय पॉलिमर (electroactive conductive polymers) की परत भी लोहे की धातु को जंग से बचाती है।

परंतु एक बार जब किसी भी सामान पर जंग लग जाता है तो वह बेकार हो जाता है, और जंग को हटाना आसान भी नहीं होता है। यदि आपके लोहे के सामान में जंग लग चुकी है और आप इससे परेशान हैं तो हम आपको कुछ उपाये बताएंगे जिससे आप जंग की छुट्टी कर सकते हैं और जंग लगे सामान को दोबारा इस्तेमाल के लायक बना सकते हैं।

1. हल्के क्लीनिंग एजेंट (Mild Cleaning Agent) का इस्तेमाल करें:
जंग से छुटकारा पाने का सबसे सरल तरीका यह है कि शुरुआत में ही जंग के संकेतों को क्लीनिंग एजेंट की सहायता से हटा दिया जाये। जंग लगी सतह पर सीधे क्लीनिंग घटकों (Cleaning Agents) को स्प्रे करें या हल्के हाथों से सतह पर लगाए। बाद में सतह को अच्छी तरह से साफ कर लें।

2. बेकिंग सोडा का उपयोग करें:
बेकिंग सोडा, लगभग हर घर में पाया जाने वाला एक लोकप्रिय रासायनिक यौगिक है, जो धातु से जंग को हटाने में सबसे प्रभावी होता है। यह एक सरल तकनीक है जो किसी भी धातु की सतह से जंग को साफ करने में बहुत प्रभावी है। बेकिंग सोडा में पानी मिलाकर उसका पेस्ट बना लें जो इतना गाढ़ा हो कि उसका धातु पर लेप लगाया जा सके। इसे थोड़ी देर (15-20 मिनट) के लिये छोड़ दें और उसके बाद रगड़ कर साफ कर लें। इस विधि में जंग की मात्रा के आधार पर आपको दो या तीन बार ये क्रिया दोहरानी पड़ सकती है।

3. सफेद सिरके (White Vinegar) का प्रयोग करें:
सिरके के अम्लीय और रोगाणुरोधी गुणों के कारण, इसे प्राकृतिक सफाई एजेंट और घरेलू उपचार के रूप में जाना जाता है। सिरका जंग से प्रतिक्रिया करके उसे अपने में घोल कर धातु से हटा देता है। आप इसकी अम्लीय तीव्रता को बढ़ाने के लिए इसमें नमक भी डाल सकते हैं। बस धातु पर सिरके की एक परत लगाये और लगभग 10 मिनट के लिए छोड़ दे बाद में इसे किसी कपड़े या स्क्रबर से साफ कर दे। जंग साफ हो जायेगा।

4. कोका-कोला का उपयोग करें:
जी हां! धातु के समान से जिद्दी जंग के दाग को हटाने के लिए कोल्ड ड्रिंक का इस्तेमाल भी किया जा सकता है। दरअसल कोका-कोला कार्बोनेट युक्त होती है इस कारण ये जंग को हटाने के लिए एकदम सही विकल्प है। आपको बस जंग लगी सतह पर कोका-कोला डालना है और फिर इसे एक मुलायम कपड़े या स्पंज से साफ करना है।

5. आलू और डिश-सोप आजमायें:
आलू में ऑक्सैलिक अम्ल (oxalic acid) होता है जो जंग को हटा सकता है। इसका उपयोग धातु से जंग के धब्बे हटाने के लिए किया जा सकता है। आलू को आधा काट लें और उसकी सतह पर कुछ नमक या डिश-सोप डालकर सतह पर रगड़े, बाद में आप इसे कपड़े के टुकड़े से साफ कर सकते हैं।

6. नमक और नींबू का प्रयोग करें:
इस विधि में, आप या तो कटोरे में कुछ नमक के साथ नींबू निचोड़ सकते हैं और फिर इसे जंग लगी सतह पर लगा सकते हैं या फिर आप सतह पर नमक डाल कर फिर नींबू निचोड़ कर सतह पर इसका एक लेप लगा सकते है। नमक एक अपघटक के रूप में काम करता है, जबकि नींबू में सिट्रिक अम्ल एक रासायनिक प्रतिक्रिया बनाता है जो जिद्दी जंग के दाग को भी दूर करने में मदद करता है। इसके लेप को कुछ घंटों के लिये छोड़ दें फिर रगड़ कर साफ कर लें।

7. एल्युमिनियम फॉइल का इस्तेमाल करें:
एल्युमिनियम फॉइल का उपयोग लोहे और स्टेनलेस या क्रोम स्टील से जंग को साफ करने के लिए किया जा सकता है। एल्यूमीनियम जंग के साथ प्रतिक्रिया करता है और इसे आसानी से साफ कर देता है। एक एल्युमिनियम फॉयल को सिरके या नमक और पानी या कोल्ड ड्रिंक के मिश्रण में डुबोकर उसे ब्रुश की तरह प्रयोग करते हुए जंग को साफ करें। आप बाद में एक कपड़े का उपयोग करके इसे साफ कर सकते हैं, एल्युमिनियम जंग हटाने का कार्य बखूबी कर लेता है।

संदर्भ:
1.https://sciencing.com/rust-form-4564062.html
2.https://en.wikipedia.org/wiki/Rust
3.http://www.homecrux.com/6-easy-ways-to-remove-rust-stains-out-of-metal-outdoor-furniture/31513/



RECENT POST

  • वेस्टइंडीज का चटनी संगीत हैं भारतीय भजन संग्रह
    ध्वनि 1- स्पन्दन से ध्वनि

     19-05-2019 10:00 AM


  • उत्तर प्रदेश के महत्वपूर्ण औद्योगिक क्षेत्रों में से एक मेरठ का औद्योगिक विवरण
    नगरीकरण- शहर व शक्ति

     18-05-2019 10:00 AM


  • उत्तर प्रदेश की अर्थव्यवस्था में मेरठ की दूसरे नम्बर पर है हिस्सेदारी
    विचार 2 दर्शनशास्त्र, गणित व दवा

     17-05-2019 10:30 AM


  • प्रकाशन उद्योगों का शहर मेरठ
    ध्वनि 2- भाषायें

     16-05-2019 10:30 AM


  • विलुप्त होने की कगार पर है मेरठ का यह शर्मीला पक्षी
    पंछीयाँ

     15-05-2019 11:00 AM


  • दुनिया भर की डाक टिकटों पर महाभारत का चित्रण
    द्रिश्य 3 कला व सौन्दर्य

     14-05-2019 11:00 AM


  • एक ऐसी योजना जो कम करेगी मेरठ-दिल्ली के बीच के फासले को
    नगरीकरण- शहर व शक्ति

     13-05-2019 11:00 AM


  • माँ की ममता की झलक
    विचार 2 दर्शनशास्त्र, गणित व दवा

     12-05-2019 12:07 PM


  • महाभारत का चित्रयुक्त फारसी अनुवाद ‘रज़्मनामा’
    ध्वनि 2- भाषायें

     11-05-2019 10:30 AM


  • कैसे हुई हमारे उपनामों की उत्पत्ति?
    विचार 2 दर्शनशास्त्र, गणित व दवा

     10-05-2019 12:00 PM