दिल्ली में होने वाली गणतंत्र दिवस की शानदार परेड

मेरठ

 26-01-2019 10:00 AM
द्रिश्य 2- अभिनय कला

2019 में भारत के 70वें गणतंत्र दिवस समारोह में दक्षिण अफ्रीका के राष्ट्रपति सिरिल रामफोसा मुख्य अतिथि होंगे। अर्जेंटीना के ब्यूनस एरेस में जी-20 सम्मेलन के दौरान भारतीय प्रधानमंत्री मोदी और रामफोसा की मुलाकात हुई थी। इस दौरान मोदी ने उन्हें गणतंत्र दिवस समारोह में मुख्य अतिथि बनने का निमंत्रण दिया।

गणतंत्र दिवस, भारत का राष्ट्रीय त्यौहार है। इस दिन राजपथ, नई दिल्ली पर एक विशेष परेड का आयोजन किया जाता है, जो कि राष्ट्रपति भवन, राजपथ से होते हुए इंडिया गेट को जाती है। परेड हर साल 26 जनवरी को राजपथ, नई दिल्ली में होती है और यह गणतंत्र दिवस पर देश भर के लिए सबसे बड़ा आकर्षण का केंद्र है।

इसके शुरू होने से पहले प्रधानमंत्री द्वारा इंडिया गेट पर स्थित शहीद सैनिकों के स्मारक अमर जवान ज्योति, पर पुष्पांजलि अर्पित की जाती है, और उपस्थित सभी जनगण द्वारा शहीद सैनिकों की याद में दो मिनट का मौन रखा जाता है। राष्ट्रपति का आगमन मुख्य अतिथि के साथ होता है। उसके बाद राष्ट्रपति द्वारा झंडा लहराया जाता है और राष्ट्रीय गान गाया जाता है, फिर 21 तोपों की सलामी दी जाती है। उसके बाद राष्ट्रपति द्वारा विशेष सम्मान जैसे अशोक चक्र और कीर्ति चक्र दिए जाते हैं और राष्ट्रीय वीरता पुरस्कार प्राप्त करने वाले बच्चों को रंग-बिरंगे सजे-धजे हाथियों या वाहनों पर सवारी कराई जाती है।

भारतीय सेना के नौ से बारह अलग-अलग रेजिमेंट के साथ ही नौसेना और वायु सेना अपने बैंड के साथ अपनी अधिकृत सजावट में मार्च पास्ट (March Past) करते हैं। भारत के विभिन्न अर्धसैनिक बलों और अन्य नागरिक बलों के बारह दल भी इस परेड में हिस्सा लेते हैं। सीमा सुरक्षा बल द्वारा ऊंटों के माध्यम से किया गया प्रदर्शन सबसे अनोखा होता है, जो कि दुनिया की एकमात्र ऊंटसवार सैन्य बल है। पूरे देश से चुने गए एन.सी.सी. सैनिक छात्र इस समारोह में भाग लेते हैं और राजधानी के विभिन्न स्कूलों के स्कूली बच्चे भी इसमें भाग लेते हैं। भारत के विभिन्न राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों की संस्कृतियों को प्रदर्शित करने वाली 22 से 30 झांकियां भी भव्य परेड में शामिल होती हैं। परेड में लगभग 1200 स्कूली बच्चे सांस्कृतिक नृत्य प्रस्तुत करते हैं। 2016 के गणतंत्र दिवस ने 26 साल बाद परेड में के-9 डॉग स्क्वाड (K-9 Dog Squad) की वापसी को चिह्नित किया था। सशस्त्र बलों और नागरिक सुरक्षा सेवाओं की मोटरसाइकिल यूनिट (Motorcycle Unit) द्वारा हैरत-अंगेज मोटर साइकिल प्रदर्शन, भारतीय वायु सेना के जेट विमानों और हेलीकॉप्टरों द्वारा राष्ट्रीय ध्वज और तीन सेवाओं (जल, थल, वायु) के झंडे लिए उड़ान के साथ परेड को खत्म किया जाता है।

भारत में दिए जाने वाले सैन्य पुरस्कार, पुलिस पुरस्कार और बहादुरी पुरस्कार निम्नलिखित हैं:

सैन्य पुरस्कार:

युद्ध पुरस्कार
• परमवीर चक्र
• महावीर चक्र
• वीर चक्र

शांति पुरस्कार
• अशोक चक्र पुरस्कार
• कीर्ति चक्र
• शौर्य चक्र

युद्ध/शांति सेवा और पराक्रम पुरस्कार
• सेना मैडल
• नौ सेना पदक
• वायु सेना पदक

युद्ध विशिष्ट सेवा
• सर्वोत्तम युद्ध सेवा पदक
• उत्तम युद्ध सेवा पदक
• युद्ध सेवा पदक

शांति विशिष्ट सेवा
• परम विशिष्ट सेवा पदक
• अति विशिष्ट सेवा पदक
• विशिष्ट सेवा पदक

राष्ट्रीय पुरस्कार
• नारी शक्ति पुरस्कार
• विशेष उपलब्धि के लिए राष्ट्रीय बालक पुरस्कार
• राष्ट्रीय बाल श्री सम्मान

पुलिस पुरस्कार:
• पराक्रम हेतु राष्ट्रपति पुलिस मैडल

वीरता पुरस्कार:
• राष्ट्रीय वीरता पुरस्कार
• भरत अवार्ड
• संजय चोपड़ा अवार्ड
• गीता चोपड़ा अवार्ड
• जीवन रक्षा पदक श्रृंखला अवार्ड
• सर्वोत्तम जीवन रक्षा पदक
• उत्तम जीवन रक्षा पदक
• जीवन रक्षा पदक

संदर्भ:
1.https://en.wikipedia.org/wiki/Delhi_Republic_Day_parade
2.https://www.ndtv.com/india-news/south-african-president-cyril-ramaphosa-to-be-chief-guest-at-republic-day-2019-1956488
3.https://en.wikipedia.org/wiki/Indian_honours_system



RECENT POST

  • कम्बोह वंश के गाथा को दर्शाता मेरठ का कम्बोह दरवाज़ा
    उपनिवेश व विश्वयुद्ध 1780 ईस्वी से 1947 ईस्वी तक

     22-04-2019 09:00 AM


  • लिडियन नाधास्वरम (Lydian Nadhaswaram) के हुनर को सलाम
    द्रिश्य 2- अभिनय कला

     21-04-2019 07:00 AM


  • अपरिचित है मेरठ की भोला बियर की कहानी
    उपनिवेश व विश्वयुद्ध 1780 ईस्वी से 1947 ईस्वी तक

     20-04-2019 09:00 AM


  • क्यों मनाते है ‘गुड फ्राइडे’ (Good Friday)?
    विचार I - धर्म (मिथक / अनुष्ठान)

     19-04-2019 09:41 AM


  • तीन लोक का वास्तविक अर्थ
    विचार I - धर्म (मिथक / अनुष्ठान)

     18-04-2019 12:24 PM


  • यिप्रेस (Ypres) के युद्ध में मेरठ सैन्य दल ने भी किया था सहयोग
    उपनिवेश व विश्वयुद्ध 1780 ईस्वी से 1947 ईस्वी तक

     17-04-2019 12:50 PM


  • मेरठ का खूबसूरत विवरण जॉन मरे के पुस्तक में
    भूमि प्रकार (खेतिहर व बंजर)

     16-04-2019 04:10 PM


  • पतन की ओर बढ़ता सर्कस
    द्रिश्य 2- अभिनय कला

     15-04-2019 02:37 PM


  • 'अतुल्य भारत' की एक मनोरम झलक
    द्रिश्य 1 लेंस/तस्वीर उतारना

     14-04-2019 07:20 AM


  • रामायण और रामचरितमानस का तुलनात्मक विवरण
    विचार I - धर्म (मिथक / अनुष्ठान)

     13-04-2019 07:30 AM