डिजिटल भारत का महत्वाकांक्षी उपग्रह जीसैट-11

मेरठ

 21-01-2019 01:58 PM
संचार एवं संचार यन्त्र

भारत का 5,854 किलोग्राम वाला सबसे भारी उपग्रह जीसैट-11 एक भारतीय संचार उपग्रह है। जिसे भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन द्वारा विकसित एवं संचालित किया जायेगा। इसका प्रक्षेपण फ़्रांसिसी अंतरिक्ष एजेंसी ऐरियनस्पेस (Arianespace) के ऐरियन-5 (Ariane-5) रॉकेट से 5 दिसंबर 2018, को सफलतापूर्वक हुआ। प्रमोचन यान ऐरियन-5 VA-246 को कूरौ लॉन्च बेस (Kourou Launch Base), फ्रेंच गुयाना से 02:07 बजे (IST) उड़ाया गया, जो भारत के GSAT-11 और दक्षिण कोरिया के GEO-KOMPSAT-2A उपग्रहों को ले गया। ऐरियन-5 ऐरियनस्पेस के तीन प्रक्षेपण यान में से एक है।


वैज्ञानिक अपने ऑन-बोर्ड प्रणोदन प्रणाली का उपयोग करके जियोस्टेशनरी (Geostationary/ भूस्थैतिक) कक्षा (भूमध्य रेखा के ऊपर 36,000 किमी) में उपग्रह को रखने के लिए आने वाले दिनों में चरण-वार कक्षा-पर स्थिति परिवर्तन करेंगे। जीसैट-11 को भूस्थैतिक कक्षा में 74-डिग्री पूर्वी देशांतर पर रखा जाएगा। इसके बाद, GSAT-11 की दो सौर सरणियों और चार एंटीना रिफ्लेक्टर (Antenna Reflectors) को कक्षा में तैनात किया जाएगा। कक्षा में सभी परीक्षणों के सफल समापन के बाद उपग्रह प्रचलित हो जाएगा।

जीसैट-11 पूरे देश के लिए प्रति सेकंड 16 गीगाबाइट की गति से डाटा संचारित करेगा तथा देश में उन्नत दूरसंचार और डीटीएच सेवाएं प्रदान करेगा। इसरो के अध्यक्ष डॉ. के. सिवान ने कहा, "जीसैट -11 भारत नेट परियोजना के तहत आने वाले देश के गांव और दुर्गम ग्राम पंचायतों में ब्रॉडबैंड कनेक्टिविटी (Broadband Connectivity) को बढ़ावा देगा।" भारत नेट परियोजना का उद्देश्य ग्रामीण क्षेत्रों के मध्‍य ई-बैंकिंग (e-Banking), ई-स्वास्थ्य, ई-गवर्नेंस (e-Governance) जैसी लोक कल्याणकारी योजनाओं को बढ़ावा देना है। उन्होंने कहा कि GSAT-11 भविष्य के सभी उच्च दीर्घवृत्तीय संचार उपग्रहों के अग्रदूत के रूप में कार्य करेगा।

संदर्भ:
1.https://www.isro.gov.in/gsat-11-mission/gsat-11-curtain-raiser-video-hindi
2.https://www.isro.gov.in/update/05-dec-2018/india%E2%80%99s-heaviest-communication-satellite-gsat-11-launched-successfully-french
3.https://www.isro.gov.in/Spacecraft/gsat-11-mission
4.https://www.isro.gov.in/gsat-11-mission/gsat-11-press-kit
5.https://hi.wikipedia.org/wiki/%E0%A4%9C%E0%A5%80%E0%A4%B8%E0%A5%88%E0%A4%9F-11
6.https://www.youtube.com/watch?v=43NKzWpBLrc



RECENT POST

  • कम्बोह वंश के गाथा को दर्शाता मेरठ का कम्बोह दरवाज़ा
    उपनिवेश व विश्वयुद्ध 1780 ईस्वी से 1947 ईस्वी तक

     22-04-2019 09:00 AM


  • लिडियन नाधास्वरम (Lydian Nadhaswaram) के हुनर को सलाम
    द्रिश्य 2- अभिनय कला

     21-04-2019 07:00 AM


  • अपरिचित है मेरठ की भोला बियर की कहानी
    उपनिवेश व विश्वयुद्ध 1780 ईस्वी से 1947 ईस्वी तक

     20-04-2019 09:00 AM


  • क्यों मनाते है ‘गुड फ्राइडे’ (Good Friday)?
    विचार I - धर्म (मिथक / अनुष्ठान)

     19-04-2019 09:41 AM


  • तीन लोक का वास्तविक अर्थ
    विचार I - धर्म (मिथक / अनुष्ठान)

     18-04-2019 12:24 PM


  • यिप्रेस (Ypres) के युद्ध में मेरठ सैन्य दल ने भी किया था सहयोग
    उपनिवेश व विश्वयुद्ध 1780 ईस्वी से 1947 ईस्वी तक

     17-04-2019 12:50 PM


  • मेरठ का खूबसूरत विवरण जॉन मरे के पुस्तक में
    भूमि प्रकार (खेतिहर व बंजर)

     16-04-2019 04:10 PM


  • पतन की ओर बढ़ता सर्कस
    द्रिश्य 2- अभिनय कला

     15-04-2019 02:37 PM


  • 'अतुल्य भारत' की एक मनोरम झलक
    द्रिश्य 1 लेंस/तस्वीर उतारना

     14-04-2019 07:20 AM


  • रामायण और रामचरितमानस का तुलनात्मक विवरण
    विचार I - धर्म (मिथक / अनुष्ठान)

     13-04-2019 07:30 AM