नई प्रतिभा को मौका देती आईडिएट फॉर इंडिया प्रतियोगिता

मेरठ

 15-01-2019 12:38 PM
नगरीकरण- शहर व शक्ति

प्रौद्योगिकी में दिन प्रतिदिन होते सुधारों और नए तथा अद्वितीय विचारों ने दुनिया को बदल दिया है। आज दुनिया चौथी औद्योगिक क्रांति के कगार पर है और सब कुछ तेज़ी से हाइपर-कनेक्टेड (Hyper-connected, अति संयुक्त) और स्मार्ट (Smart) होता जा रहा है। इस बदलाव से युवाओं में नवाचार कौशल की भी वृद्धि हुई है और नवाचार ही किसी भी देश की वृद्धि और विकास का प्रमुख संकेतक होते हैं। आज दुनिया भर की सरकारें युवाओं में नवाचार कौशल को विकसित करने और बनाए रखने के लिए सभी आवश्यक प्रयास कर रही हैं। आज हमारे देश को अगले स्तर तक ले जाने के लिए, युवाओं के कौशल का विस्तार करने के लिए और उन्हें अपने आसपास की समस्याओं और चुनौतियों से अवगत कराने के लिए मंच प्रदान करना अनिवार्य है। इसी को देखते हुए भारत सरकार की ओर से युवाओं की रचनात्मकता निखारने के लिए भी कई योजनायें बनाई गई हैं, जिनमें से एक है ‘आईडिएट फॉर इंडिया’ (Ideate for India) प्रतियोगिता।

छात्रों की प्रतिभा को सामने लाने और उनके उपायों से रचनात्मक आविष्कार करने के लिए आईडिएट फॉर इंडिया प्रतियोगिता, इलेक्‍ट्रॉनिकी और सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय, राष्ट्रीय ई-गवर्नेंस विभाग, भारत सरकार एवं इंटेल इंडिया की साझेदारी के सहयोग से शुरू की गई। इस प्रतियोगिता का उद्देश्य युवा छात्रों को प्रौद्योगिकी के महत्व समझाना और उन्हें एक मंच प्रदान करना है तथा इस प्रतियोगिता के तहत छात्रों को अपना कौशल निखारने का मौका मिलेगा। यहां पर विद्यार्थी न सिर्फ अपने विचारों को सबके सामने रखेंगे, बल्कि वे ऑनलाइन (Online) शिक्षण सामग्री, फेस टू फेस बूट कैंप (Face to face boot camps), तकनीकी विशेषज्ञों के मार्गदर्शन आदि के माध्यम से अपने तकनीकी कौशल का विकास भी करेंगे। योजना के तहत छात्र देश की विभिन्न चुनौतियों को पहचानेंगे, उनके समाधान के उपाय खोजेंगे और फिर इसे हल करने के लिए तकनीक विकसित करेंगे।

इस प्रतियोगिता के तहत विद्यार्थी प्रौद्योगिकी के ज़रिए देश में विभिन्न चुनौतियों के लिये भिन्न-भिन्न विषयों जैसे कि महिला सुरक्षा, पर्यावरण, स्वास्थ्य सेवाएं, शिक्षा, ट्रैफिक, टूरिज्म, दिव्यांगता, डिजिटल सेवाएं, सामाजिक कल्याण, कृषि, इंफ्रास्ट्रक्चर (Infrastructure) आदि पर तकनीकी आविष्कारों के लिए अपने सुझाव दे सकते हैं।

इलेक्‍ट्रॉनिकी और सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय, राष्ट्रीय ई-गवर्नेंस विभाग, भारत सरकार एवं इंटेल इंडिया द्वारा आयोजित ‘आईडिएट फॉर इंडिया’ प्रौद्योगिकी का उपयोग कर हमारे देश के युवा छात्रों को उनके और उनके समुदायों की समस्याओं के लिए ‘समाधान निर्माता’बनने का एक मंच और अवसर प्रदान करता है। छात्र अपने आस-पास की चुनौतियों व समस्याओं को पहचान सकें और तकनीक के ज़रिए अपने रचनात्मक सुझाव दे सकें जिससे उनकी नयी सोच और विचारों को बढ़ाया जा सके एवं स्वदेशी समाधान विकसित करके उन्हें भविष्य के प्रौद्योगिकी निर्माता और नवप्रवर्तक बनने के लिए प्रेरित करना आदि इस प्रतियोगिता का मकसद है।

इस राष्ट्रीय स्तरीय प्रतियोगिता में पूरे देश से कक्षा 6-12वीं तक के छात्र हिस्सा ले सकते हैं। इसमें 11 विशेष क्षेत्र शामिल हैं जिन पर छात्र अपने विचार साझा कर सकते हैं, इसमें 2 श्रेणियां होंगी – जूनियर (Junior)/कनिष्ठ (कक्षा 6-8) और सीनियर (Senior) / वरिष्ठ (कक्षा 9-12)। छात्रों को इसमें भाग लेने के लिये इसके आधिकारिक वेबसाइट लिंक (Official Website Link) पर जाकर दिए गए विषयों में से एक पर अपने विचार 90 सेकेंड की विडियो के ज़रिए साझा करने होंगे। इस विडियो को जमा करने की आखरी तारिख 31 जनवरी 2019 है। विशेषज्ञों का समूह हर राज्य और केन्द्र शासित प्रदेश से 10 छात्रों का चयन करेगा और देशभर से करीब 360 छात्रों का चयन किया जाएगा।

इसके बाद क्षेत्रीय स्तर पर 5 बूट कैंप (उत्तर, दक्षिण, पूर्व, पश्चिम और उत्तर-पूर्व भारत में) लगाए जाएंगे। यहां इन चुनिंदा छात्रों के विचारों पर विशेषज्ञों की निगरानी में इनके समाधानों पर काम किया जाएगा। इसके बाद राष्ट्रीय प्रदर्शनी (नई दिल्ली) में 50 छात्रों को आमंत्रित किया जाएगा और प्रौद्योगिकी सृजन चैंपियंस (Tech Creation Champions) के रूप में सम्मानित किया जाएगा।

संदर्भ:
1.https://ideateforindia.negd.in/
2.https://ideateforindia.negd.in/about
3.https://www.facebook.com/OfficialDigitalIndia/videos/ideate-for-india-national-challenge/361261501107386/



RECENT POST

  • कम्बोह वंश के गाथा को दर्शाता मेरठ का कम्बोह दरवाज़ा
    उपनिवेश व विश्वयुद्ध 1780 ईस्वी से 1947 ईस्वी तक

     22-04-2019 09:00 AM


  • लिडियन नाधास्वरम (Lydian Nadhaswaram) के हुनर को सलाम
    द्रिश्य 2- अभिनय कला

     21-04-2019 07:00 AM


  • अपरिचित है मेरठ की भोला बियर की कहानी
    उपनिवेश व विश्वयुद्ध 1780 ईस्वी से 1947 ईस्वी तक

     20-04-2019 09:00 AM


  • क्यों मनाते है ‘गुड फ्राइडे’ (Good Friday)?
    विचार I - धर्म (मिथक / अनुष्ठान)

     19-04-2019 09:41 AM


  • तीन लोक का वास्तविक अर्थ
    विचार I - धर्म (मिथक / अनुष्ठान)

     18-04-2019 12:24 PM


  • यिप्रेस (Ypres) के युद्ध में मेरठ सैन्य दल ने भी किया था सहयोग
    उपनिवेश व विश्वयुद्ध 1780 ईस्वी से 1947 ईस्वी तक

     17-04-2019 12:50 PM


  • मेरठ का खूबसूरत विवरण जॉन मरे के पुस्तक में
    भूमि प्रकार (खेतिहर व बंजर)

     16-04-2019 04:10 PM


  • पतन की ओर बढ़ता सर्कस
    द्रिश्य 2- अभिनय कला

     15-04-2019 02:37 PM


  • 'अतुल्य भारत' की एक मनोरम झलक
    द्रिश्य 1 लेंस/तस्वीर उतारना

     14-04-2019 07:20 AM


  • रामायण और रामचरितमानस का तुलनात्मक विवरण
    विचार I - धर्म (मिथक / अनुष्ठान)

     13-04-2019 07:30 AM