पहला आधुनिक स्टीम इंजन और उसका मज़ेदार फ़िल्मी चित्रण

मेरठ

 28-10-2018 10:00 AM
य़ातायात और व्यायाम व व्यायामशाला

समय से आगे सोचने वाले ही सदैव सबसे प्रतिभाशाली और सफल अन्वेषक होते हैं। ऐसे ही लोगों में से एक थे रोबर्ट स्टीफनसन जिन्होंने सन 1829 में एक ऐसा निर्माण किया जो अपने समय के लिए काफी आधुनिक था। यह था ‘रॉकेट’, लेकिन धोखा ना खा जाइएगा, यह कोई सचमुच का रॉकेट नहीं बल्कि एक स्टीम इंजन (Steam Engine) वाली रेलगाड़ी थी जिसे इन्होंने रॉकेट का नाम दिया था।

असल में रोबर्ट का दावा था कि स्टीम से चलने वाली रेलगाड़ी ही उस समय बन रहे लिवरपूल और मेनचेस्टर रेल मार्ग पर सबसे कुशल साबित होगी। इस बात की पुष्टि करने के लिए एक प्रतियोगिता रखी गयी जिसमें 5 लोकोमोटिव (Locomotive) ने भाग लिया। इस दौड़ की लम्बाई 1 मील (1.6 कि.मी.) थी। इसी प्रतियोगिता में भाग लेने के लिए रोबर्ट ने रॉकेट का निर्माण किया था। रोबर्ट की रेल अकेली इस दौड़ को पूरा कर पाई तथा प्रतियोगिता की विजेता बनी।

हालांकि रॉकेट उस समय की पहली स्टीम इंजन वाली रेलगाड़ी नहीं थी परन्तु वह पहली ऐसी रेलगाड़ी थी जिसमें अलग-अलग नई पद्धतियों को जोड़कर उस समय की सबसे आधुनिक रेलगाड़ी बनाई गयी थी। इसके निर्माण में रोबर्ट को अपने पिता जॉर्ज स्टीफनसन से भी सहायता प्राप्त हुई थी। इसी के आधार पर अगले 150 साल तक नई रेलगाड़ियाँ बनाईं गईं।

क्योंकि कैमरे का अविष्कार रॉकेट के बनने के काफी वर्षों बाद हुआ, इसलिए रॉकेट के पहले सफ़र का कोई चित्र हमें उपलब्ध नहीं है। परन्तु निराश ना हों, 1923 की एक साइलेंट फिल्म (Silent film) ‘हॉस्पिटैलिटी’ (Hospitality) में दिए गए एक मज़ेदार सीन (Scene) के माध्यम से रॉकेट के पहले सफ़र की कल्पना की जा सकती है। वीडियो में आप देख सकते हैं कि शुरूआती रेल आज की आधुनिक रेल से कितनी अलग है। इस वीडियो को ऊपर प्रस्तुत किया गया है तथा इसे देखने के लिए बस वीडियो पर क्लिक करें।

संदर्भ:
1.
https://en.wikipedia.org/wiki/Stephenson%27s_Rocket
2.https://en.wikipedia.org/wiki/Rainhill_Trials



RECENT POST

  • कम्बोह वंश के गाथा को दर्शाता मेरठ का कम्बोह दरवाज़ा
    उपनिवेश व विश्वयुद्ध 1780 ईस्वी से 1947 ईस्वी तक

     22-04-2019 09:00 AM


  • लिडियन नाधास्वरम (Lydian Nadhaswaram) के हुनर को सलाम
    द्रिश्य 2- अभिनय कला

     21-04-2019 07:00 AM


  • अपरिचित है मेरठ की भोला बियर की कहानी
    उपनिवेश व विश्वयुद्ध 1780 ईस्वी से 1947 ईस्वी तक

     20-04-2019 09:00 AM


  • क्यों मनाते है ‘गुड फ्राइडे’ (Good Friday)?
    विचार I - धर्म (मिथक / अनुष्ठान)

     19-04-2019 09:41 AM


  • तीन लोक का वास्तविक अर्थ
    विचार I - धर्म (मिथक / अनुष्ठान)

     18-04-2019 12:24 PM


  • यिप्रेस (Ypres) के युद्ध में मेरठ सैन्य दल ने भी किया था सहयोग
    उपनिवेश व विश्वयुद्ध 1780 ईस्वी से 1947 ईस्वी तक

     17-04-2019 12:50 PM


  • मेरठ का खूबसूरत विवरण जॉन मरे के पुस्तक में
    भूमि प्रकार (खेतिहर व बंजर)

     16-04-2019 04:10 PM


  • पतन की ओर बढ़ता सर्कस
    द्रिश्य 2- अभिनय कला

     15-04-2019 02:37 PM


  • 'अतुल्य भारत' की एक मनोरम झलक
    द्रिश्य 1 लेंस/तस्वीर उतारना

     14-04-2019 07:20 AM


  • रामायण और रामचरितमानस का तुलनात्मक विवरण
    विचार I - धर्म (मिथक / अनुष्ठान)

     13-04-2019 07:30 AM