प्राचीन मंदिर मस्जिद पसंद करने वाली अबाबील

मेरठ

 22-09-2018 01:22 PM
पंछीयाँ

आज हम आपको मेरठ व संयुक्त भारत में पाए जाने वाले अबाबील पक्षी के बारे में बताएँगे। अबाबील पक्षी (Swallow Bird) एक छोटे आकार का पक्षी है। आमतौर पर यह पक्षी काले रंग का होता है और इस पक्षी की पीठ के नीचे एक सफ़ेद रंग की धारी होती है। यह भारत की बारहमासी पक्षियों में से एक है। यह पक्षी ग्रीष्मकाल में रहना पसंद करता है, और जाड़े के समय यह तप्त स्थलों में चली जाती हैं। इसी कारण, यूरोपीय देशों में अबाबील पक्षियों का आगमन ग्रीष्मकाल का प्रतीक है।

अबाबील पक्षियों के मुँह से एक लार जैसा पदार्थ निकलता है। इस चिपचिपे पदार्थ की मदद से, यह पक्षी मिट्टी के गोले अपने मुह में भर के परित्यक्त अथवा पुराने मकानों की छतों पर चिपका देती हैं। इसी प्रकार, धीरे धीरे, यह अपना मिट्टी का घोंसला तैयार करती हैं। इनका घोसला प्याले के आकार का होता है, जिसमें प्रवेश करने के लिए एक तरफ सुराख होता है। हैरानी की बात यह है कि चीन में लोग इन मिट्टी व लार से बने घोसलों का शोरबा बना कर बड़े चाव से पीते हैं।

यह पक्षी अपना ज़्यादातर वक्त घोंसले में बैठने अथवा आकाश में उड़ने में व्यतीत करते है। अबाबील पक्षी उड़ने के शौक़ीन होते हैं। इसका एक कारण इन पक्षियों की उँगलियों कि बनावट को भी माना जाता है। अबाबील पक्षियों के पैरों की चारों उंगलियाँ आगे की तरफ होती हैं। इस वजह से यह पक्षी ना ही पेड़ की डालियों पर पकड़ बना पाते हैं, ना ही ज़मीन पर ठीक से चल पाते हैं।

चित्र में दिखाई गयी अबाबील की प्रजाति मस्जिद अबाबील (Red-Rumped Swallow Bird) के नाम से जानी जाती है। इस प्रजाति का घोंसला घरेलू अबाबील की तरह तश्तरी जैसा ना होकर बोतल के आकार जैसा होता है तथा। इसका नाम मस्जिद अबाबील इसलिए पड़ा क्योंकि यह प्राचीन मस्जिदों में अपना घोंसला बनाना पसंद करती है।

यह पक्षी झुण्ड में उड़ना पसंद करते हैं। इनके उड़ने की गति अन्य पक्षियों के मुकाबले काफ़ी तेज़ होती है। इनका मुँह काफी चौड़ा होता है, जिसकी मदद से यह पक्षी हवा में उड़ने वाले कीड़ों को आसानी से निगल जाते है।

संदर्भ:
1.सिंह, राजेश्वर प्रसाद नारायण. 1958. भारत के पक्षी. प्रकाशन विभाग, सूचना एवं प्रकाशन मंत्रालय
2.अंग्रेज़ी पुस्तक: Kothari & Chhapgar. 2005. Treasures of Indian Wildlife. Oxford University Press
3.https://en.wikipedia.org/wiki/Red-rumped_swallow
4.https://avibase.bsc-eoc.org/checklist.jsp?region=INggupme&list=howardmoore®ion=INggupme&list=howardmoore



RECENT POST

  • मेरठवासियों के लिए सिर्फ 170 किमी दूर हिल स्टेशन
    पर्वत, चोटी व पठार

     18-12-2018 11:58 AM


  • लुप्त होने के मार्ग पर है बुनाई और क्रोशिया की कला
    स्पर्शः रचना व कपड़े

     17-12-2018 01:59 PM


  • दुनिया का सबसे ठंडा निवास क्षेत्र, ओयम्याकोन
    जलवायु व ऋतु

     16-12-2018 10:00 AM


  • 1857 की क्रांति में मेरठ व बागपत के आम नागरिकों का योगदान
    उपनिवेश व विश्वयुद्ध 1780 ईस्वी से 1947 ईस्वी तक

     15-12-2018 02:10 PM


  • मिठास की रानी चीनी का इतिहास
    स्वाद- खाद्य का इतिहास

     14-12-2018 12:12 PM


  • वृक्षों का एक लघु स्वरूप 'बोन्साई '
    शारीरिक

     13-12-2018 04:00 PM


  • निरर्थक नहीं वरन् पर्यावरण का अभिन्‍न अंग है काई
    कीटाणु,एक कोशीय जीव,क्रोमिस्टा, व शैवाल

     12-12-2018 01:24 PM


  • विज्ञान का एक अद्वितीय स्‍वरूप जैव प्रौद्योगिकी
    डीएनए

     11-12-2018 01:09 PM


  • पौधों के नहीं बल्कि मानव के ज़्यादा करीब हैं मशरूम
    फंफूद, कुकुरमुत्ता

     10-12-2018 01:18 PM


  • रेडियो का आविष्कार और समय के साथ उसका सफ़र
    संचार एवं संचार यन्त्र

     09-12-2018 10:00 PM