क्या हैं पीढ़ी-एक्स और पीढ़ी-वाय और क्या है इनमें फर्क?

मेरठ

 29-06-2018 02:36 PM
विचार 2 दर्शनशास्त्र, गणित व दवा

कार्य क्षेत्र की महत्ता प्रत्येक देश और प्रदेश की प्रगति का एक महत्वपूर्ण साधन होता है। पूरे विश्व में युवाओं का योगदान देश के विकास में अत्यंत महत्वपूर्ण हो जाता है क्योंकि यही युवा देश की कार्य शक्ति में अपना योगदान देते हैं। यह नयी पीढ़ी, पीढ़ी-वाय (Generation Y) नाम से जानी जाती है जो कि इन्टरनेट जनरेशन और डिजिटल पीढ़ी के नाम से भी जानी जाती है। शुरूआती दौर की पीढ़ी को पीढ़ी-एक्स (Generation X) नाम से जाना जाता है। सर्वप्रथम हमें यह जानने की आवश्यकता है कि आखिर ये एक्स और वाय नाम कहाँ से पड़ा?

यह शब्द सहस्त्राब्दी (Millennial) के आधार पर भी आधारित है जिसके नामकरण का श्रेय दो लेखकों को जाता है जिनका नाम है विलियम स्ट्रास और नील होव। यह शब्द सन 1987 में प्रकाश में आया था। जो बच्चे 1982 में या उसके बाद पैदा हुए थे उनको वाय पीढ़ी के रूप में देखा जाता है। उसके पहले के लोगों को एक्स नाम से जाना जाता है। इन्होंने अपनी किताबों ‘जनरेशन: हिस्ट्री ऑफ़ अमेरिकास फ्यूचर, 1584-2069’ और ‘मिलेनिअल राइजिंग: द नेक्स्ट ग्रेट जनरेशन’ में इन समूहों के बारे में लिखा। वाय पीढ़ी के लिए वेतन सबसे ऊपर रहता है तथा उद्यम या कंपनी की प्रतिष्ठा मायने रखती है। अंतर्राष्ट्रीय परियोजनाओं और यात्रा सभी की उम्मीद होती है। समाज में उच्च स्थान की धारणा इस पीढ़ी में देखने को मिलती है। इस पीढ़ी के लोग समूह में कार्य करने को महत्ता देते हैं परन्तु अपनी खुद की जिम्मेदारियों को भी देखते हैं।

इस दौर में पदोन्नति कार्यकुशलता पर आधारित होती है न कि समय के आधार पर। इस पीढ़ी के लोगों को वहाँ कार्य करना ज्यादा पसंद होता है जहाँ पर उनको अपने मतलब का कार्य करने की प्रेरणा मिले और व्यक्ति विशेष के पसंदीदा कार्य करने की छूट मिले। वाय पीढ़ी प्रत्येक 2-3 वर्ष में अपनी नौकरी को बदलते रहने की आदत होती है ताकि वे जीवन में अधिक से अधिक अनुभव ले सकें और जीवन का संतुलन बनाये रखे। वाय पीढ़ी के कारण पूरे कार्यबल की संस्कृति बदल गयी और अब उनमें कुछ सामान आकांक्षाएं हैं: कार्य और जीवन में लचीलापन, वर्तमान में सभी कार्यकर्ता ज्यादा लचीलेपन या छूट की मांग करते हैं ताकि वे अपने काम, परिवार और अन्य जरूरतों की पूर्ती कर सकें। अब ऐसी स्थिति में यह महत्वपूर्ण हो जाता है कि विभिन्न विषयों के आधार पर नौकरियों की उपलब्धतता हो।

संदर्भ:
1. https://www.bbc.com/news/uk-scotland-41036361
2. https://en.wikipedia.org/wiki/Millennials



RECENT POST

  • लिडियन नाधास्वरम (Lydian Nadhaswaram) के हुनर को सलाम
    द्रिश्य 2- अभिनय कला

     21-04-2019 07:00 AM


  • अपरिचित है मेरठ की भोला बियर की कहानी
    उपनिवेश व विश्वयुद्ध 1780 ईस्वी से 1947 ईस्वी तक

     20-04-2019 09:00 AM


  • क्यों मनाते है ‘गुड फ्राइडे’ (Good Friday)?
    विचार I - धर्म (मिथक / अनुष्ठान)

     19-04-2019 09:41 AM


  • तीन लोक का वास्तविक अर्थ
    विचार I - धर्म (मिथक / अनुष्ठान)

     18-04-2019 12:24 PM


  • यिप्रेस (Ypres) के युद्ध में मेरठ सैन्य दल ने भी किया था सहयोग
    उपनिवेश व विश्वयुद्ध 1780 ईस्वी से 1947 ईस्वी तक

     17-04-2019 12:50 PM


  • मेरठ का खूबसूरत विवरण जॉन मरे के पुस्तक में
    भूमि प्रकार (खेतिहर व बंजर)

     16-04-2019 04:10 PM


  • पतन की ओर बढ़ता सर्कस
    द्रिश्य 2- अभिनय कला

     15-04-2019 02:37 PM


  • 'अतुल्य भारत' की एक मनोरम झलक
    द्रिश्य 1 लेंस/तस्वीर उतारना

     14-04-2019 07:20 AM


  • रामायण और रामचरितमानस का तुलनात्मक विवरण
    विचार I - धर्म (मिथक / अनुष्ठान)

     13-04-2019 07:30 AM


  • शहीद-ए-आज़म उद्धम सिंह का बदला
    उपनिवेश व विश्वयुद्ध 1780 ईस्वी से 1947 ईस्वी तक

     12-04-2019 07:00 AM