वर्तमान मेरठ में पुनर्चक्रण की ज़रूरत

मेरठ

 06-06-2018 12:01 PM
नगरीकरण- शहर व शक्ति

मेरठ एक औद्योगिक क्रांति का शहर है। यहाँ पर छोटे कुटीर उद्योगों से लेकर बड़े स्तर के उद्योगों की उपलब्धता है। उद्योगों की ही उपलब्धता के कारण यह शहर औद्योगिक क्रांति के शहर के रूप में जाना जाता है। उद्योगों से बड़े पैमाने पर कबाड़ व अन्य सामान भी निकलता है जिसका प्रयोग विभिन्न छोटे स्तर के कुटीर उद्योग करते हैं। इन्हीं उद्योगों में से मेरठ की कैंची का भी उद्योग शामिल है जिसका निर्माण विभिन्न लोहे आदि के कबाड़ का पुनर्चक्रण कर के किया जाता है।

मेरठ में इन कबाड़ों और कचरों की समस्या अत्यंत खतरनाक आकार ले चुकी है। कारण कि ये सामान विभिन्न प्रकार की समस्याएं खड़ी करता है जिससे यहाँ के वातावरण में कई दिक्कतें आनी शुरू हो जाती हैं। मेरठ में कचरे का पुनर्चक्रण करना अत्यंत महत्वपूर्ण कार्य है क्यूंकि इन कचरों में मात्र लोहे, प्लास्टिक आदि ही नहीं हैं बल्कि इनमें आधुनिक उपकरण जैसे टी.वी., फ्रिज, मोबाइल आदि भी शामिल हैं। इन वस्तुओं के पुनर्चक्रण से कई समस्याओं का हल निकल सकता है। मेरठ में पुनर्चक्रीकरण की प्रक्रिया का सूत्रपात हो चुका है परन्तु इसको बड़े स्तर पर पहुँचने में समय लग रहा है।

मेरठ को अंबिकापुर, छत्तीसगढ़ के आधार पर बनाया जा रहा है जो कि भारत का सबसे स्वच्छ शहर है और जहाँ एक भी कचरे का टीला नहीं है। वहां पर उपस्थित समस्त कचरे का पुनर्चक्रीकरण किया जाता है। यदि इसी आधार पर मेरठ में कार्य कर दिया जाए तो यह भी सबसे साफ़ शहरों की सूची में शामिल हो कचरा मुक्त शहर बन जाएगा। जैसे मेरठ की कैंची पुनर्चक्रण से प्राप्त धातुओं के आधार पर बनाई जाती है वैसे ही अन्य कितने ही उत्पाद इन कचरों से बनाये जा सकते हैं। दिल्ली के गाज़ीपुर फूल मंडी में बचे हुए फूलों के ग्रीटिंग कार्ड व अन्य वस्तुएं बनायीं जाती हैं जो कि पुनर्चक्रीकरण का ही एक उदाहरण है।

1.https://timesofindia.indiatimes.com/city/meerut/inspired-by-pm-teens-set-up-e-waste-management-firm/articleshow/57965062.cms
2.http://www.escrapzone.com/e-waste-recycling-meerut.html
3.https://swachhindia.ndtv.com/inspired-by-chhattisgarhs-ambikarpur-meerut-steps-up-its-waste-management-initiatives-will-hire-more-than-2000-sanitation-workers-10413/
4.http://www.petrecycling.in/pet-recycling-in-india/



RECENT POST

  • रंग जमाती होली आयी
    विचार I - धर्म (मिथक / अनुष्ठान)

     21-03-2019 01:35 PM


  • होली से संबंधित पौराणिक कथाएँ
    विचार I - धर्म (मिथक / अनुष्ठान)

     20-03-2019 12:53 PM


  • बौद्धों धर्म के लोगों को चमड़े के जूते पहनने से प्रतिबंधित क्यों किया गया?
    विचार I - धर्म (मिथक / अनुष्ठान)

     19-03-2019 07:04 AM


  • महाभारत से संबंधित एक ऐतिहासिक शहर कर्णवास
    विचार I - धर्म (मिथक / अनुष्ठान)

     18-03-2019 07:40 AM


  • फूल कैसे खिलते हैं?
    बागवानी के पौधे (बागान)

     17-03-2019 09:00 AM


  • भारत में तांबे के भंडार और खनन
    खदान

     16-03-2019 09:00 AM


  • क्या है पौधो के डीएनए की संरचना?
    डीएनए

     15-03-2019 09:00 AM


  • अकबर के शासन काल में मेरठ में थी तांबे के सिक्कों की टकसाल
    मध्यकाल 1450 ईस्वी से 1780 ईस्वी तक

     14-03-2019 09:00 AM


  • पक्षियों की तरह तितलियाँ भी करती है प्रवासन
    तितलियाँ व कीड़े

     13-03-2019 09:00 AM


  • प्राचीन काल में लोग समय कैसे देखते थे
    ठहरावः 2000 ईसापूर्व से 600 ईसापूर्व तक

     12-03-2019 09:00 AM