Machine Translator

बॉडी मास इंडेक्स (BMI) - स्वास्थ्य को मापने का तरिका

मेरठ

 02-09-2018 12:04 PM
सिद्धान्त I-अवधारणा माप उपकरण (कागज/घड़ी)

आजकल मानवता की सबसे बड़ी समस्याओं में से एक है लोगो में बढ़ता मोटापा। हम सभी जानते हैं कि मोटापा ज्यादातर अत्यधिक भोजन और न के बराबर शारीरिक गतिविधियों के कारण होता है। लेकिन क्या आप जानते हैं की मोटापा हमारे शरीर को कितना नुकसान पहुंचा सकता है, यह ना केवल हमारी फुर्ती को कम करता है बल्कि हमारे शरीर में हृदय संबंधित गंभीर बीमारियों को, मस्तिष्क के स्ट्रोक, बांझपन, नींद अश्‍वसन और मधुमेह जैसी कई गंभीर स्वास्थ्य समस्याओं को जन्म दे सकता है।

क्या आप जानते हैं कि मोटापे का निर्धारण करने के लिए सबसे उपयुक्त तरीका “बी-एम-आई - बॉडी मास इंडेक्स” है। बॉडी मास इंडेक्‍स किसी व्यक्ति के "मोटापे" या "पतलेपन" का एक साधारण आंकिक माप उपलब्ध कराता है, इसको शरीर द्रव्यमान सूचकांक या एन्थ्रोपोमैट्रिक सूचकांक भी कहा जाता है। बीएमआई के लिए सूत्र की खोज 19वीं शताब्दी में हुई और इसने 1972 में लोकप्रियता हासिल की जिसका श्रेय ‘एंकल कीज’ के द्वारा प्रकाशित एक पत्र को जाता है।

क्या आप जानते हैं 18.5 से 25 बीएमआई एक स्वस्थ शरीर वजन के लिए कट ऑफ माना जाता है, लेकिन 25 बीएमआई का कट ऑफ अब भारतीयों या अन्य दक्षिण एशियाई लोगों पर लागू नहीं किया जाता है, क्योंकि अमेरिकन डायबिटीज एसोसिएशन (एडीए) ने कहा है कि एशियाई लोगों के लिए बीएमआई का कट ऑफ 23 होना चाहिए। शोधकर्ताओं और विशेषज्ञों द्वारा यह पाया गया है कि एशिया के लोग साधारण बीएमआई के साथ भी मधुमेह के लिए अधिक संवेदनशील हैं। यथार्थ डॉक्टरों द्वारा भारतीयों को 23 बीएमआई में ही स्वास्थय के प्रति सावधानी रखने की सलाह दी गयी है।

बीएमआई को सही सीमा में बनाए रखने के कई लाभ होते हैं। इससे हम अपने शरीर के वजन को समान रख सकते हैं और एक स्वस्थ शरीर विभिन्न बीमारियों से बचा रहता है। और वहीं ज्यादा मोटापा हमारे शरीर में रोगों को आमंत्रित करता है। आपको बीएमआई के विषय में अब पता चल गया होगा, तो आप नीचे दी गयी सूची से यह पता लगा सकते हैं कि आप किस श्रेणी में आते हैं :-

1. 18.5 से कम बीएमआई यानि अंडरवेट
2. 18.5-25 के बीच बीएमआई यानि हेल्‍दी वेट
3. 25-30 से बीच बीएमआई यानि ओवरवेट
4. 30-40 के बीच बीएमआई यानि मोटापे से ग्रस्‍त
5. 40 से ज्‍यादा बीएमआई यानि ज्‍यादा मोटापा

यदि आप 25-30, 30-40, 40 इन श्रेणी में आते हैं तो आपको तुरंत डॉक्टर के पास जाना चाहिए। अपने स्वास्थय का आकलन करके और इसे हमेशा स्वस्थ बनाए रखने के लिए अच्छा आहर और उपयुक्त आहार का सेवन करना चाहिए।

संदर्भ :-
1.https://en.wikipedia.org/wiki/Body_mass_index
2.https://www.hindustantimes.com/india/indians-with-bmi-of-23-should-start-worrying-doctors/story-OGhGFpKLe23sp8ZJUOXwEJ.html
3.http://obesityfoundationindia.com/bmi.htm


RECENT POST

  • प्रथम विश्‍व युद्ध के दौरान भारतीय सेना की यूरोप में स्थिति
    उपनिवेश व विश्वयुद्ध 1780 ईस्वी से 1947 ईस्वी तक

     12-11-2018 05:41 PM


  • कैसे खड़ी हो एक महिला कार्यस्थल पर यौन उत्पीड़न के खिलाफ़
    नगरीकरण- शहर व शक्ति

     11-11-2018 10:00 AM


  • प्रवास के समय पक्षियों की गति प्रभावित करने वाले कारक
    पंछीयाँ

     10-11-2018 10:00 AM


  • आइये समझें एक स्वच्छता तंत्र को जो हो सकता है मेरठ के लिए लाभदायक
    नगरीकरण- शहर व शक्ति

     09-11-2018 10:00 AM


  • यातायात से जुड़े आम लेकिन इन खास नियमों के बारे में शायद ही हर भारतीय को पता हो
    य़ातायात और व्यायाम व व्यायामशाला

     08-11-2018 10:00 AM


  • शिव पार्वती की प्रतिमा देती है दिवाली पर जुआ न खेलने का सन्देश
    विचार I - धर्म (मिथक / अनुष्ठान)

     07-11-2018 12:31 PM


  • हज़ारों साल पुराना है टूथपेस्ट का इतिहास
    घर- आन्तरिक साज सज्जा, कुर्सियाँ तथा दरियाँ

     06-11-2018 09:33 AM


  • जादूगरी की दुनिया के कुछ बेताज शहंशाह
    द्रिश्य 2- अभिनय कला

     05-11-2018 02:39 PM


  • रविवार वीडियो: खुशियों की चाबी है खुश रहने में
    विचार 2 दर्शनशास्त्र, गणित व दवा

     04-11-2018 10:00 AM


  • भारत को एकता के धागे में पिरो गए लौह पुरुष
    उपनिवेश व विश्वयुद्ध 1780 ईस्वी से 1947 ईस्वी तक

     03-11-2018 12:37 PM






  • © - 2017 All content on this website, such as text, graphics, logos, button icons, software, images and its selection, arrangement, presentation & overall design, is the property of Indoeuropeans India Pvt. Ltd. and protected by international copyright laws.